पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बड़ी लापरवाही:तहसीलदार व कर्मियों के संक्रमित होने पर कार्यालय कंटेनमेंट जोन घोषित, दूसरे दफ्तर खुल रहे, बढ़ा खतरा

कोरबा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएमएचओ कार्यालय में सिटी प्रोग्राम मैनेजर व डॉक्टर के पॉजिटिव मिलने के बाद भी दूसरे दिन चलता रहा कामकाज

कोरोना संक्रमण नियंत्रण के लिए अब पॉजिटिव मरीजों को कोविड हॉस्पिटल व केयर सेंटर भेजने के अलावा बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेट की सुविधा दी जा रही है। साथ ही पहले की तरह कंटेनमेंट जोन नहीं बनाए जा रहे हैं। 10 दिन पहले कोरबा तहसीलदार सुरेश साहू व इसके अगले दिन तहसील का एक कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित मिला था। जिसके बाद 7 से 18 सितंबर तक तहसील कार्यालय को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। कार्यालय परिसर में ही एसडीएम कार्यालय भी है। कंटेनमेंट जोन घोषित होने के बाद दोनों ही कार्यालय में आमजन की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया गया। जबकि दूसरी ओर अन्य सरकारी कार्यालय में अधिकारियों-कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद भी वहां कंटेनमेंट जोन घोषित नहीं किए जा रहे हैं। जहां सामान्य दिनों की तरह कामकाज और आमजन की आवाजाही हो रही है। सोमवार को सीएमएचओ कार्यालय में पदस्थ सिटी प्रोग्राम मैनेजर अशोक सिंह व एक डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव मिले। इसके बाद भी मंगलवार को उक्त कार्यालय सामान्य दिनों की तरह खुला और कामकाज चलता रहा।

तहसील कार्यालय में लोगों का कार्य हो रहा है प्रभावित
तहसील को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के साथ ही वहां तहसीलदार व एसडीएम के कार्यालय से जुड़े राजस्व प्रकरणों की सुनवाई स्थगित करते हुए तिथि आगे बढ़ा दी गई है। साथ ही अन्य कार्यों के लिए भी आमजन का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। इस कारण पूर्व तय सुनवाई तिथि के आधार पर पहुंचने वालों को बैरंग लौटना पड़ रहा है। वहीं पारिवारिक, सामूहिक व शोक कार्यक्रम समेत अन्य अनुमति के लिए पहुंचने वालों को भी परेशान होना पड़ रहा है।

कार्यालय खुला न ऑनलाइन जमा हुआ आवेदन
बालको नगर के रमेश कुमार एसडीएम कोरबा से पारिवारिक कार्यक्रम की अनुमति लेने के लिए सोमवार को तहसील कार्यालय पहुंचे थे। लेकिन कंटेनमेंट जोन घोषित होने के कारण उनका आवेदन जमा नहीं हुआ। इसके बाद वे चॉइस सेंटरों में आवेदन करने गए जहां पारिवारिक कार्यक्रम का कॉलम नहीं होने से वहां भी काम नहीं हुआ। ऐसे में उन्हें भटकना पड़ा।

सतरेंगा से पहुंचे तो पता चला 14 दिन बाद सुनवाई
लेमरू थाना अंतर्गत अजगरबहार के आगे सतरेंगा गांव में रहने वाले तिहारू सिंह ने बताया कि उनका जमीन विवाद संबंधी प्रकरण तहसील में चल रहा है। उनके प्रकरण की सुनवाई पूर्व में 14 सितंबर को होनी थी। इसके लिए वे सोमवार को किराए के वाहन में तहसील पहुंचे थे। जहां अंदर कार्यालय में घुसने से रोक दिया गया और 14 दिन बाद 28 सितंबर को आने को कहा गया।

बारिश से मकान ढहने का नहीं कर सके आवेदन
परसाभाठा निवासी रमेश यादव ने बताया कि बारिश के कारण कमजोर हो चुका उसका मकान 3 दिन पहले ढह गया। इसके संबंध में वह आवेदन करने के लिए मंगलवार को तहसील कार्यालय पहुंचा था। लेकिन वहां के कर्मचारियों ने कंटेनमेंट जोन घोषित होने की जानकारी देते हुए बाद में आने को कहा जिस कारण आवेदन जमा नहीं हो सका।

सैनिटाइज करके भूल गए कंटेनमेंट जोन नहीं बनाया
सीएमएचओ कार्यालय के कर्मचारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि सिटी प्रोग्राम मैनेजर (सीपीएम) के परिवार के सदस्य पहले से कोरोना संक्रमित होने के बाद भी वे ड्यूटी पर आ रहे थे। अब उनके अलावा कार्यालय में पदस्थ एक डॉक्टर के पॉजिटिव मिलने के बाद अब सैनिटाइज करके अधिकारी भूल गए। कंटेनमेंट जोन नहीं बनाया गया। कार्यालय के अधिकारी-कर्मचारियों के साथ ही आमजन की आवाजाही से कोरोना संक्रमण की आशंका है।

एसईसीएल कुसमुंडा में सिविल विभाग सील
कुसमुंडा|
एसईसीएल कुसमुंडा एरिया में पदस्थ सिविल इंजीनियर के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर संबंधित विभाग के दफ्तर को सील कर दिया गया है। अधिकारी कुसमुंडा जीएम ऑफिस में सिविल विभाग में पदस्थ है। बताया जा रहा है कुछ दिनों पहले अधिकारी रायपुर गए थे। यहां से लौटने के बाद उनकी तबीयत खराब थी। बाद में उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसकी सूचना मिलने पर जीएम आफिस के सिविल विभाग में हड़कंप मच गया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें