विरोध / क्वारेंटाइन का समय पूरा, घर नहीं जाने दिया तो किया विरोध

मजदूरों को समझाइश देते प्रभारी तहसीलदार वीरेंद्र श्रीवास्वत। मजदूरों को समझाइश देते प्रभारी तहसीलदार वीरेंद्र श्रीवास्वत।
X
मजदूरों को समझाइश देते प्रभारी तहसीलदार वीरेंद्र श्रीवास्वत।मजदूरों को समझाइश देते प्रभारी तहसीलदार वीरेंद्र श्रीवास्वत।

  • 9 मजदूरों ने नहीं खाया खाना, तहसीलदार की समझाइश पर माने, रिपोर्ट आने के बाद भेजा जाएगा घर

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कोरबा-हरदीबाजार. पाली ब्लॉक के गवर्नमेंट हायर सेकंडरी स्कूल हरदीबाजार में ठहराए गए 9 प्रवासी मजदूरों ने 14 दिन की क्वारेंटाइन अवधि पूरी होने के बाद भी घर नहीं जाने देने पर दोपहर में खाना ही नहीं खाया।
यहां 18 मजदूरों को ठहराया गया है। सूचना मिलने पर प्रभारी पाली तहसीलदार वीरेंद्र श्रीवास्तव, आरआई प्रकाश यादव, पूर्व सरपंच युवराज सिंह कंवर स्कूल पहुंचे और समझाइश दी। प्रभारी तहसीलदार ने कहा कि 9 मजदूरों की रिपोर्ट आना बाकी है। इसके बाद सभी को एक साथ छुट्टी दी जाएगी। अगर एक भी मजदूर की रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आती है तो आपके साथ आपके पूरे परिवार को क्वारेंटाइन पर रहना पड़ेगा। इसके बाद ही मजदूर मानें।  मजदूरों का कहना था कि हम लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। सेंटर में रहते हुए 18 से 19 दिन हो गए हैं। इसके बाद भी घर जाने छुट्टी नहीं दे रहे हैं। डॉ. एएन कंवर ने बताया कि बीएमओ कार्यालय से पत्र आया है जिसमें 9 प्रवासी मजदूर घर जा सकते हैं। उन्हें 14 दिन घर पर ही आइसोलेट रहना होगा। प्रभारी तहसीलदार ने बताया कि मजदूर मान गए हैं। हरदीबाजार में ही बलौदाबाजार से आए पति-पत्नी व उनके संपर्क में आई एक युवती को पाली में क्वारेंटाइन किया गया है। जांजगीर-चांपा जिले से दिलचंद, राजीव, कर्ण व एक बालक आया था। लेकिन प्रशासन को सूचना नहीं दी गई थी। सरपंच की सूचना पर सभी को पाली के कॉलेज में क्वारेंटाइन कराया गया है।
जम्मू से 6 तो पुणे से एक प्रवासी मजदूर लौटा है
गुरुवार रात करतला ब्लॉक के 3 के साथ कुल 6 मजदूर ट्रेन से लौटे। यह ट्रेन कटरा से चांपा आई थी। इसी तरह पुणे से एक मजदूर लौटा है। सभी मजदूरों को लेने के लिए बस भेजी गई थी। जांच के बाद सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया है। अभी भी ट्रेनों का आना जारी है। चांपा स्टेशन में ओसी मधुबाला पात्रा, एसआई बिसन सिंह, पोस्ट इंचार्ज एसआई टीआर कुर्रे, एचसी आर कुमार, आरपी द्विवेदी, एस कश्यप, एसआर राजपूत ने मजदूरों को उनके जिले भेजने की व्यवस्था कराई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना