पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

ठेकेदार की मनमानी:सफाईकर्मियों को 3 माह से नहीं मिला मानदेय बोले- बच्चों को कहां से लाएंगे राखी व मिठाई

कोरबा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कर्मियों ने कहा- त्योहार तो दूर राशन के लिए भी पैसे नहीं

नगर निगम के 67 में से 42 वार्डों में सफाई ठेका के माध्यम से होती है। शनिवार को 3 महीने से मानदेय नहीं देेने पर काशीनगर व बुधवारी के सफाई कर्मियों ने काम बंद कर दिया। उनका कहना था कि भुगतान नहीं होने से आर्थिक समस्या से जूझ रहे हैं। त्योहार मनाने के लिए तो दूर राशन के लिए भी पैसे नहीं हैं। इसके बाद ठेकेदार ठेका सफाई कर्मियों को मनाने में जुटा रहा। बाद में भुगतान की बात कहने पर सफाई कर्मी काम पर लौट आए। दूसरी ओर एसएलआरएम सेंटर में काम करने वाली 62 साल से अधिक उम्र के 15 सफाई मित्रों को काम से निकाल दिया गया है। इससे भी सफाई कर्मियों में नाराजगी है। नगर निगम की सफाई व्यवस्था पहले से ही खराब है। जिसकी वजह से इस बार स्वच्छता रेटिंग में फेल रहा। सफाई कर्मियों को समय पर भुगतान नहीं होने की वजह से आए दिन काम बंद करने की नौबत आती है। बुधवारी बाजार व काशीनगर में कार्य कर रहे 25 से अधिक सफाई कर्मियों ने काम करने से मना कर दिया। जिसकी वजह से लोग भी परेशान रहे। लोग काम करने के बजाय बुधवारी बाजार में एक जगह जुटे रहे। जिसके बाद ठेकेदारों ने जब शीघ्र भुगतान का आश्वासन दिया तो दोपहर में काम पर लौटे।

रो पड़ी राजमणी, बोली- कहां से लाएंगे राखी व मिठाई
महिला सफाई कर्मी राजमणी से बात करने पर वह रो पड़ी। उसका कहना था कि तीन महीने से भुगतान नहीं हुआ है। ठेकेदार से पैसों की मांग करने पर आज व कल कहकर टाल दिया जाता है। घर में पैसे नहीं हैं। सोमवार को त्योहार है। बच्चों के लिए राखी व मिठाई कहां से लाएंगे। यहां तक कई के पास राशन के लिए भी पैसे नहीं हैं।

लोगों ने कहा- नियमित नहीं होती सफाई, कचरा भी नहीं उठता
बुधवारी बाजार के कमल कुमार ने बताया कि वार्ड में नियमित सफाई नहीं होती है। कचरे का ढेर लगा रहता है। समय पर उठाव भी नहीं होता। अब तो डोर टू डोर कचरा कलेक्शन करने वाले आते हैं। उन्हें कचरा देते हैं। इसके बाद भी कचरा के उठाव में लापरवाही बरती जा रही है। रामकुमार ने बताया कि इसकी शिकायत करने पर भी सुनवाई नहीं होती।

62 साल रिटायर की उम्र इसलिए काम पर नहीं रखा
नगर निगम क्षेत्र में 18 एसएलआरएम संचालित हैं। जहां कचरा कलेक्शन के साथ ही छंटाई का काम भी दिया गया है। लेकिन 62 साल से अधिक की सफाई मित्रों को काम से बाहर करने कहा गया है। निगम अफसरों का तर्क है कि 62 साल में कर्मचारी रिटायर हो जाते हैं, इस वजह से अधिक उम्र वालों को काम पर नहीं रखा गया है। ऐसे 15 लोगों को काम पर नहीं आने कहा गया है।

हर साल सफाई पर 10 करोड़ से अधिक खर्च, फिर भी गंदगी
नगर निगम सफाई के लिए हर साल ठेका निकालती है। सफाई के लिए 10 करोड़ से अधिक खर्च होता है। इसके बाद भी सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं हो रहा है। निगम क्षेत्र में 450 सफाई कर्मी कार्य कर रहे हैं। अधिकांश क्षेत्रों में पुराने ठेकेदार ही काम कर रहे हैं। जो राजनीतिक दलों से जुड़े हुए हैं। इसकी वजह से भी अधिकारी ठेकेदारों पर कार्रवाई नहीं करते।

सीधी बात
वीके सारस्वत, स्वास्थ्य अधिकारी

सवाल - काशीनगर व बुधवारी बाजार के सफाई कर्मियों को तीन महीने से भुगतान नहीं हुआ है। इसमें किसकी लापरवाही है।
-ठेकेदार को रिकार्ड प्रस्तुत करने के बाद भुगतान कर दिया जाता है। ठेकेदार ने ही भुगतान नहीं किया होगा, लेकिन मामला सुलझ गया है।
सवाल - बुजुर्ग सफाई मित्रों को काम से निकालने का आदेश दिया गया है क्या।
-अधिक उम्र के लोगों को काम पर नहीं रखने कहा गया है। किसी प्रकार की दुर्घटना होने पर जिम्मेदार कौन होगा।
सवाल - भुगतान को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही हैं इसके बाद भी ध्यान क्यों नहीं दिया जा रहा।
-ठेकेदार व सफाई कर्मियों में आपसी सामंजस्य से काम होता है। कई बार एडवांस भी लेते हैं। लेकिन समय पर लेबर को भुगतान की हिदायत दी जाती है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें