पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आयोजन:वर्चुअल प्लेटफार्म पर छात्रों ने डॉ.एपीजे कलाम को याद किया

कोरबा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हाई स्कूल स्याहीमुड़ी का आयोजन, चित्रकला, भाषण, विज्ञान गणित मॉडल से डॉ.कलाम के विचार बताए

देश के भूतपूर्व राष्ट्रपति व प्रख्यात वैज्ञानिक डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम को उनके जन्मदिन पर शासकीय हाई स्कूल स्याहीमुड़ी के साथ साथ प्रदेश के कई जिलों के छात्र-छात्राओं ने जुड़कर उन्हें याद किया। जयंती पर छात्रों के लिए वर्चुअल प्लेटफार्म पर प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें डॉ.कलाम के विचारों व उनके प्रेरणात्मक संदेश को रखने कहा गया था। छात्रों ने चित्रकला में जहां कलाम जी का हूबहू चित्र बनाकर उनकी संक्षिप्त जीवनी को बताया। चित्रकला, भाषण, विज्ञान गणित माडल प्रदर्शन, कोरोना के लक्षण व उसके रोकथाम को चित्र के माध्यम से समझाना था। इन सभी विधाओं में डॉ.कलाम जी के प्रेरणादाई विचारों को छात्र अपने जीवन में आत्मसात कर सकें इसी उद्देश्य से यह कार्यक्रम किया गया। इस राज्य स्तरीय ऑनलाइन अब्दुल कलाम जयंती स्पेशल-2020 व विश्व प्रक्षालन दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन व संयोजन शासकीय हाई स्कूल स्याहीमुड़ी की व्याख्याता प्रभा साव ने किया। उन्होंने आयोजन में शामिल छात्र-छात्राओं के साथ शिक्षकों का उत्साहवर्धन के लिए आभार जताया। शिक्षिका साव ने कहा कि ऑनलाइन प्रतियोगिता में कोरबा के साथ छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा, बस्तर, महासमुंद, बालोद समेत अन्य जिलों से प्रतिभागी अपना प्रस्तुतीकरण करने के लिए वर्चुअल प्लेटफार्म से जुड़े थे। चित्रकला में 12, विज्ञान गणित मॉडल प्रदर्शन में दो, कोरोना के लक्षण एवं इसके रोकथाम में 6 प्रतिभागी, दूसरी कड़ी में भाषण में 15 कुल मिलाकर 35 प्रतिभागी व 108 विद्यार्थी व शिक्षकों ने मिलकर डॉ. कलाम की जयंती मनाई। सभी प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट की पात्रता रहेगी। यह कार्यक्रम हेमंत माहुलिकर व प्राचार्य डॉ. फरहाना अली के मार्गदर्शन में हुआ। माहुलिकर व डॉ.अली ने डॉ.कलाम के जीवन पर प्रकाश डालते हुए वर्चुअल प्लेटफार्म पर जुड़े छात्रों को रोचक जानकारी दी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें