विरोध-प्रदर्शन:आरोप प्रदेश सरकार ने नहीं उठाया कोई ठोस कदम तभी कवर्धा में झंडा लगाने के विवाद ने पकड़ी तूल

कोरबा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपाइयों ने विरोध में पुतला दहन कर किया प्रदर्शन, कई जगहों पर पुलिस ने छीन लिया पुतला

कवर्धा में दो समुदायों के बीच झंडा लगाने को लेकर उपजे विवाद को लेकर भाजपाई भी आक्रोशित हो गए हैं। गुरुवार को भाजपाइयों ने आरोप लगाया कि समय रहते प्रदेश सरकार ने ठोस कदम नहीं उठाया। इसी वजह से यह विवाद गहराया और धारा 144 लगानी पड़ी। इसी के विरोध में भाजपा ने पुतला दहन किया।

कई जगहों पर पुलिस के पुतला छीन लेने से माहौल भी गरमा गया। दीपिका के बजरंग चौक में भाजपाइयों ने मुख्यमंत्री और वन मंत्री का पुतला दहन किया। जिला कार्यसमिति सदस्य अरुणेश तिवारी, रोहित जायसवाल, राजू प्रजापति, पंकज राठौर समेत पदाधिकारियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान प्रदेश सरकारी को खूब कोसा भी।

कोसाबाड़ी: सुभाष चौक पर कवर्धा में हुई घटना का जताया विरोध
भाजपा कोसाबाड़ी मंडल ने निहारिका सुभाष चौक पर कवर्धा में हुए घटना का विरोध जताया। इसी के विरोध मंे प्रदेश सरकार का पुतला दहन किया गया। प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी हुई। इस विरोध-प्रदर्शन में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य विकास रंजन महतो, शिक्षा प्रकोष्ठ के जिला संयोजक समीर पांडे, आईटी सेल के संयोजक नवदीप नंदा, सोशल मीडिया के संयोजक अजय चंद्र, भाजयुमो जिलाध्यक्ष पंकज सोनी, महामंत्री अनूप यादव, दीक्षित देवांगन, बृजेश यादव समेत अन्य मौजूद थे।

पाली: गांधी चौक पर प्रदर्शन कर कहा- लोगों को सुरक्षा देने में प्रदेश सरकार रही नाकाम
भाजपा और भाजयुमो पाली मंडल के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने गांधी चौक पर प्रदेश सरकार का पुतला जलाया। लोगों को सुरक्षा देने में प्रदेश सरकार की नाकामी का आरोप लगाया। इस विरोध-प्रदर्शन में भाजपा जिला उपाध्यक्ष संजय भावनानी, अजय जायसवाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष रोशन सिंह ठाकुर, भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष चिंटू राजपाल, प्रयाग नारायण शांडिल्य, रामविलास जायसवाल, महामंत्री विवेक कौशिक, भाजयुमो प्रदेश सदस्य मुकेश कौशिक, मीडिया प्रभारी दीपक शर्मा, विक्की अग्रवाल समेत अन्य मौजूद थे।

बालको: प्रदेश सरकार के इशारे पर हुई एकपक्षीय कार्रवाई, इससे नाराजगी
भाजपा बालको मंडल के पदाधिकारियों ने कवर्धा के मामले में प्रदेश सरकार के ईशारे पर एकपक्षीय कार्रवाई करने का आरोप लगाया। साथ ही यह भी कहा कि प्रदेश सरकार ने समय रहते कोई ठोस कदम नहीं उठाया। इसी वजह से यहां के हालात बिगड़ गए और धारा 144 लगानी पड़ी। पुतला दहन कार्यक्रम के पहले सभी पदाधिकारियों ने अपने-अपने व्याख्यान दिए। साथ ही भड़ास भी निकाली। पुतला दहन कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष सतेंद्र तिवारी (बल्लू), प्रभारी प्रेमचंद पांडेय, प्रीति स्वर्णकार, हस्तेन्द्र मिश्रा, सत्यजीत शर्मा, रजत खुटे, दिलीप सिंह, भूपेंद्र वैष्णव, देवाशीष द्विवेदी, बिनोद सिंह, दीपक चावड़ा, नीरज महंत, सहजाद समेत अन्य मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...