पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लाेगाें ने किया चक्काजाम:नहर में डूबे बच्चे का 2 दिन बाद भी पता नहीं चला, नहर में पानी अधिक हाेने से खाेजबीन का काम प्रभावित, आक्राेशित हुए लोग

कोरबा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के सीतामणी-इमलीडुग्गू में रहने वाला 10 वर्षीय किशाेर 2 दिन पहले सीतामणी के पास नहर में नहा रहा था। इस दाैरान वह पानी के तेज बहाव में डूबकर लापता हाे गया। साथ नहा रहे अन्य बच्चाें ने उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन बहाव तेज हाेने से वह असफल रहे। उन्हाेंने बच्चे के घर पहुंचकर उसके परिजन काे घटना की जानकारी दी। जाे माैके पर पहुंचे। माेहल्ले के गाेताखाेराें की मदद से नहर में आसपास खाेजबीन शुरू की गई। काेतवाली पुलिस काे भी सूचना दी गई।

जिसके बाद नगर सेना के गाेताखाेराें काे खाेजबीन में उतारा गया। लेकिन, 2 दिन बीत जाने के बाद भी लापता बच्चे का पता नहीं चला। दूसरी ओर सिंचाई विभाग काे सूचना देने के बाद भी नहर में पानी का बहाव कम नहीं हाेने से स्थानीय लाेगाें की ओर से किया जा रहा खाेजबीन कार्य प्रभावित हाेने पर वह आक्राेशित हाे गए। बुधवार की सुबह पार्षद सुफल दास महंत समेत अन्य माेहल्ले वालाें के साथ बच्चे के परिजन सीतामणी चाैक पहुंचे।

जहां चक्काजाम कर दिया। जिससे काेरबा-चांपा मार्ग पर आवाजाही बंद हाे गई। सूचना पर सिटी काेतवाली टीआई पहुंचे। उन्हाेंने चक्काजाम कर रहे लाेगाें काे समझाइश दी। पहले वे चक्काजाम से हटने काे तैयार नहीं थे। लेकिन, उनके सामने सिंचाई विभाग के अधिकारियाें काे नहर में जल्द पानी का स्तर कम करने का निर्देश दिया गया ताे वे शांत हुए। 2 घंटे बाद चक्काजाम खत्म हुआ।

खबरें और भी हैं...