पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जमीन के लिए काट डाले सैकड़ों पेड़:जंगल के अफसर इतने लापरवाह कि बासेन सर्किल के मांदरसरई जंगल में दिन-रात चल रही आरा मशीन

राजपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जंगल के अंदर नहीं जाते अफसर-कर्मी, निवास में ही रहना करते हैं पसंद

बलरामपुर जिले के राजपुर वन परिक्षेत्र बासेन सर्किल के मांदर सरई जंगल में वन अधिकार पट्टा पाने के लिए ग्रामीणों ने कई हेक्टेयर जंगल में सैकड़ों साल और मिश्रित पेड़ों को काट डाले। वहीं वन माफिया जंगल के अंदर दिन-रात आरा मशीन चला रहे हैं, जबकि बासेन सर्किल के वनपाल को हटाने के लिए पहले भी 12 ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने वनमंडलाधिकारी और अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर नेशनल हाईवे मार्ग पर चक्काजाम की चेतावनी दे चुके हैं। अधिकारी-कर्मचारी जंगल के अंदर जाते ही नहीं अपने निवास में रहना पसंद करते हैं। इसका फायदा वन माफिया उठा रहे हैं और वन अफसर मूक दर्शक बने हैं। एक ओर सरकार लाखों रुपए खर्च कर पौधारोपण करा रही है। कुछ वन अमला ग्रामीणों से मिलकर हरे-भरे पौधों की कटाई करा रहे हैं। नाला और तालाब में पटरा, कण्डी, सिल्ली, गोला चिरान को पानी के अंदर डूबा देते है, इसके बाद वाहनों से बाहर भेज रहे हैं।

पेड़ों को कट लगाकर सुखा रहे माफिया
साल और मिश्रित प्रजाति के पेड़ों को चिन्हांकित कर नीचे से गोल राउंड कर छाल छीलकर हरे-भरे पेड़ों को सुखा रहे हैं, ताकि पेड़ों को काटने में आसानी हो सके। वहीं पिछले साल वन विभाग ने पौधा का प्लांटेशन कराया था। ग्रामीणों ने छोटे-छोटे पेड़ों को भी काटकर मैदान में तब्दील कर दिए।

निरीक्षण के बाद भी अफसर नहीं रोक पाए पेड़ों की कटाई
गांव के कुछ ग्रामीणों ने जंगल के अंदर जमीन काबिज कर जुताई भी कर दिए हैं। 3 माह से इतने बड़े पैमाने पर हरे-भरे साल और मिश्रित पेड़ों की कटाई चल रही है। वहीं वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मूक दर्शक बने बैठे हैं। वहीं गांव के ग्रामीणों ने बताया कि बासेन सर्किल के वनपाल को सब मालूम है, जंगल कटाई के बारे में ग्रामीण कई बार अवगत करा चुके हैं। वनपाल कई बार मौके का निरीक्षण भी कर चुके हैं, लेकिन जंगल की कटाई पर रोक नहीं लगा पाए।

इन जंगलों में भी माफिया राज
बासेन सर्किल के उलिया, उफिया, हुन्ड्रा दादर के बाद अब मांदर सरई जंगलों में करीब 3 माह से हरे-भरे साल सहित मिश्रित पेड़ों की बड़े पैमाने पर कटाई हुई है। इसके अलावा सेमरसोत अभ्यारण्य के सेमरसोत, लूरगी, सरगवां, पस्ता, जिगड़ी, बासेन, उलिया, उफिया, अलखडीहा, करवां, मुरका, पटना, जगिमा, जोताड़, धंधापुर, खोडरो की जंगल में साल और मिश्रित हरे-भरे पेड़ों की कटाई हो रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें