पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:सड़क की बदहाली, कटघोरा में 3 साल बाद भी नहीं बन पाया 1400 मीटर गौरवपथ, अब ठेकेदार ने गड्‌ढे खोदकर छोड़ा

कोरबा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कटघोरा ने कोरोना को हराया पर सड़क ने किया परेशान, बिजली खंभे और पाइप लाइन शिफ्टिंग का काम बाकी

कोरोना का प्रदेश में पहले हॉट स्पाट रहा कटघोरा सड़क की बदहाली को लेकर परेशान हैं। लोगों ने कोरोना को तो हरा दिया पर खराब सड़क से राहत नहीं मिल रही है। 3 साल से गौरवपथ का काम चल रहा है। 1400 मीटर सड़क के लिए 6.63 करोड़ की मंजूरी मिली है। अब ठेकेदार ने गड्‌ढा खोदकर छोड़ दिया। इसकी वजह से व्यापारियों के साथ राहगीर भी परेशान हैं। उन्हें हर समय हादसे की आशंका रहती है। कटघोरा नगर मुख्य मार्ग की खराब सड़क को देखते हुए खनिज न्यास मद से 1400 मीटर सड़क बनाने राशि की मंजूरी मिली थी। शहीद वीरनारायण चौक से पेट्रोल पंप तक सड़क बनानी है। बारिश के समय सड़क कीचड़ में तब्दील हो जाती है। पानी निकासी की समस्या भी थी। इसे दूर करने साढ़े 4 करोड़ से नाली का निर्माण कराया है, लेकिन सड़क का निर्माण नहीं हो पाया। पहला टेंडर निरस्त कर दिया था। दूसरी बार टेंडर कर वर्क आर्डर जारी किया गया है। ठेकेदार ने काम शुरू कर दिया था। सड़क के दोनों ओर गड्‌ढा खोदा और छोड़ दिया। इसकी वजह से लोगों को आवाजाही में परेशानी हो रही है। अंधेरे में गड़्ढे में गिरने का डर राहगीरों को बना रहता है। व्यापारियों ने बताया कि दुकान तक आने में लोगों को परेशानी हो रही है। पार्किंग के लिए जगह नहीं बची है।

फोरलेन से मिलेगी राहत लेकिन लगेगा एक साल
कटघोरा बिलासपुर नेशनल हाइवे फोरलेन सड़क का काम चल रहा है। यह नगर के बाहर से गुजरेगी। सुतर्रा से होते हुए चकचकवा पहाड़ के पास अंबिकापुर हाइवे में मिलेगी। कटघोरा बाइपास से कुसमुंडा, गेवरा, दीपका से कोयला परिवहन करने वाले वाहन आवाजाही कर रहे हैं। फोरलेन बनने से थोड़ी राहत मिलेगी।

अधिकारी बदल गए अब सीएमओ भी छुट्‌टी पर
3 साल पहले जब गौरवपथ का प्रपोजल बना, उस समय नगर पालिका में भाजपा की ललिता डिक्सेना अध्यक्ष थीं। साथ ही उस समय कई सीएमओ आए और गए, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। अब कांग्रेस के रतन मित्तल अध्यक्ष हैं। साथ ही सीएमओ जेबी सिंह हैं, जो छुट्‌टी पर चले गए हैं।

एक करोड़ में पाइप लाइन और बिजली खंभे की शिफ्टिंग
सड़क नहीं बन पाने का एक मुख्य कारण पाइप लाइन शिफ्टिंग और बिजली खंबे को हटाने का काम इस्टीमेंट में नहीं होने को बताया जा रहा है। चौड़ीकरण के लिए दोनों काम जरूरी है। बाद में दोनों इस्टीमेंट को शामिल किया। पाइप लाइन शिफ्टिंग में 60 लाख और बिजली खंभे शिफ्टिंग में 40 लाख खर्च करना है। अब तक दोनों ही काम अधूरा है।

सीधी बात
रतन मित्तल, अध्यक्ष नगर पालिका

सवाल - 3 साल बाद भी गौरवपथ सड़क क्यों नहीं बन पाई, जिम्मेदार कौन हैं ?
- पालिका में जो जन प्रतिनिधि थे, उन्होंने ध्यान नहीं दिया। अधिकारी भी बदल गए। इस वजह से किसे जिम्मेदार बताएं। अब तेजी से काम चल रहा है।
सवाल - गड्‌ढे खोदकर क्यों छोड़ दिया है, कब तक सड़क बन पाएगी?
- पाइप लाइन शिफ्टिंग का काम चल रहा है। बिजली खंभे भी हटाए जा रहे हैं। अप्रैल तक सड़क बन जाएगी। यह प्राथमिकता में कराया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें