पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बारिश का असर:बांगो बांध के दो गेट और खोले गए, पांच गेटों से 20 हजार 743 क्यूसेक पानी छोड़ा

काेरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बांगो बांध में पर्याप्त पानी आने के बाद खोले गए गेट, निचले क्षेत्रों में कराई गई मुनादी

बांगो बांध में पानी की मात्रा अधिक आने पर चौथे दिन दो और गेट खोल दिए गए। अब पांच गेटों से 20 हजार 743 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। बांध का जलस्तर 358.40 मीटर है। बांध की क्षमता 359.66 मीटर है। पूरा भरने में मात्र 1.26 मीटर कम है। हाइडल पावर प्लांट से 9 हजार क्यूसेक पानी जा रहा है। बांध से अब 29743 क्यूसेक पानी नदी में छोड़ा जा रहा है। बारिश नहीं होने से बाढ़ का खतरा नहीं है। लेकिन निचले क्षेत्रों को प्रशासन ने अलट पर रखा है। साथ ही बाढ़ प्रभावित गांवों में मुनादी कराकर लोगों को नदी किनारे नहीं जाने की हिदायत दी गई है। बांगो बांध का जलभराव कोरिया जिले की बारिश पर निर्भर है। रविवार को कोरिया जिले में अच्छी बारिश हुई। जिसकी वजह से जलस्तर बढ़ने लगा। रात के समय 358.38 मीटर था वह 2 सेंटीमीटर बढ़ गया। पानी की मात्रा अधिक आने पर दोपहर में 4 व 8 को भी खोल दिया गया। अभी 4, 5, 6, 7, 8 नंबर गेट खुले हुए हैं। बांध में 11 गेट हैं। 3 गेट शुक्रवार से खुले हुए हैं। जिसमें से पहले 14500 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा था। अब पांचों गेट से अभी 20 हजार 743 क्यूसेक पानी नदी में जा रहा है। अधिकारियों के मुताबिक पानी अधिक आने पर मात्रा बढ़ाई जा सकती है। इसलिए निचले क्षेत्र के गांवों में मुनादी करा दी गई है। साथ ही जांजगीर चांपा, रायगढ़ व हीराकुंड परियोजना संबलपुर, उड़ीसा के अधिकारियों को इसकी सूचना भेज दी गई है।

दर्री बराज से भी पानी छोड़ने की मात्रा बढ़ाई गई
बांगो बांध का पानी दर्री बराज में आता है। बांगो से अधिक पानी आने पर अभी 14 में से 2 गेट खोलकर 17325 क्यूसेक पानी नदी में छोड़ा जा रहा है। साथ ही दांयीं तट नहर से 2739 और बायीं तट नहर से 3631 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। दर्री बराज के एसडीओ एसएन साय ने बताया कि पानी की मात्रा बढ़ाई जा सकती है। इसकी वजह से आसपास की बस्तियों में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

जिले के 51 जलाशयों में 80 प्रतिशत भराव
जिले के 51 लघु जलाशयों व डायवर्सन में 80 प्रतिशत पानी का भराव है। कई जलाशय जुलाई में ही लबालब हो गए हैं। एक महीने के भीतर 15 हजार हेक्टेयर में सिंचाई हुई है। जल संसाधन विभाग के ईई सीके धाकड़ ने बताया कि जहां भी पानी की डिमांड है वहां नहरों में पानी छोड़ा जा रहा है। इस साल अगस्त में ही जलाशयों की बेहतर स्थिति है।

जलस्तर कम होने के बाद ही गेट बंद करेंगे : ईई
हसदेव बांगो परियोजना के ईई केशव कुमार ने बताया कि जब तक जलस्तर 90 प्रतिशत से कम नहीं होगा तब तक गेट बंद नहीं होंगे। मंगलवार को जलस्तर कम होने पर गेट बंद करने विचार किया जाएगा। कोरिया जिले में अच्छी बारिश हो रही है। इसलिए दो और गेट खोले गए हैं। आगे पानी की मात्रा बढ़ाई जा सकती है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सक्षम और सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। कुछ समय से चल रही चिंताओं से राहत मिलेगी। परिवार के लोगों की हर छोटी-मोटी जरूरतें पूरी करने में आपको आनंद आएगा। अचानक ही किसी ...

और पढ़ें