पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

निर्णय:हड़ताल के दिन ड्यूटी की तो यूनियन से होंगे निष्कासित

कोरबा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कमर्शियल माइनिंग के खिलाफ 18 अगस्त की हड़ताल के लिए एसईसीएल के श्रमिक नेताओं की हुई वर्चुअल मीटिंग

कमर्शियल माइनिंग के खिलाफ 18 अगस्त को कोल इंडिया में प्रस्तावित एक दिवसीय हड़ताल को सफल बनाने के लिए एसईसीएल स्तर के श्रमिक नेताओं की वर्चुअल मीटिंग हुई। जिसकी अध्यक्षता एचएमएस नेता नाथूलाल पांडे ने की। बैठक में एसकेएमएस (एटक) के महामंत्री हरिद्वार सिंह, एबीकेएमएस (बीएमएस) के नेता मजहरूल हक अंसारी, के एसएस (सीटू) के महामंत्री जेएस सोढ़ी, एसईकेएमसी अध्यक्ष गोपाल नारायण सिंह शामिल हुए। बैठक में 18 अगस्त को कोयला उद्योग में घोषित हड़ताल को सफल करने पर जोर दिया गया। श्रमिक नेताओं ने कहा कि 2,3 व 4 जुलाई की तीन दिवसीय हड़ताल शत प्रतिशत सफल रही थी। इस बार भी आंदोलन को सफल किया जाएगा। इसके लिए बैठक में संयुक्त श्रमिक संघ के पदाधिकारियों ने कुछ कड़े निर्णय भी लिए हैं। जिसमें तमाम कोशिशों के बाद भी अगर 18 अगस्त की हड़ताल के दिन कोई भी कर्मचारी ड्यूटी पर जाएगा तो संबंधित कर्मचारी को संगठन से निष्कासित करने की कार्रवाई करेंगे और फिर उस कर्मचारी को कोई भी संगठन अपना सदस्य नहीं बनाएगा। मीटिंग में यह तय किया गया है कि 31 अगस्त को ही सभी श्रमिक संगठन एसईसीएल सीएमडी को हड़ताल का नोटिस देंगे। आपसी मतभेद भुलकर कोयला उद्योग को बचाने के लिए 1 अगस्त से संयुक्त रूप से झंडा बैनर के साथ खदानों के मुहाने, हाजिरी घर और अन्य स्थानों पर सरकार के फैसले के खिलाफ नारेबाजी करने का फैसला किया गया है। खदानों में आउटसोर्सिंग ठेका कार्य, डिस्पैच बंद कर हड़ताल सफल किया जाएगा। कोयला कर्मचारियों के आंदोलन को जन आंदोलन बनाने के लिए कमर्शियल माइनिंग निजीकरण वह सरकार के अन्य प्रयासों के बारे में किसानों महिलाओं विद्यार्थियों युवा बुद्धिजीवी और व्यापारियों को इसकी जानकारी दी जाएगी।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें