ट्रैफिक पुलिस के DSP के खिलाफ जांच के आदेश:ट्रांसपोर्टर से 500 रुपए प्रति ट्रक के हिसाब से महीना बांधने का है आरोप; SP ने ASP से कहा-7 दिन में जांच करके रिपोर्ट दें

कोरबा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार के खिलाफ ट्रांसपोर्टर ने गंभीर आरोप लगाए थे। - Dainik Bhaskar
डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार के खिलाफ ट्रांसपोर्टर ने गंभीर आरोप लगाए थे।

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में पदस्थ ट्रैफिक पुलिस के DSP के खिलाफ SP ने जांच के आदेश दिए हैं। एसपी भोजराम पटेल ने DSP के खिलाफ जांच के लिए ASP अभिषेक वर्मा को जांच अधिकारी बनाया है और 7 दिन के अंदर जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार पर जिले के ट्रांसपोर्टर ने 500 रुपए प्रति ट्रक के हिसाब से महीना बांधने का आरोप लगाया था। इस मामले में दीपका ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने सोमवार को ही एसपी से शिकायत की थी।

ये पूरा मामला शुक्रवार रात को सामने आया था, जब शिवचरण सिंह ने दीपका कोयला खदान से कोथारी साइडिंग तक कोयले का परिवहन कर रही 7 ट्रकों को रुकवा लिया था। इसके बाद 6 ट्रकों को उन्होंने बिना चालान जाने दिया था। जबकि एक ट्रक को शनिवार को पूरे दिन थाने में रोके रहे। इस पर ट्रांसपोर्टर मोहम्मद आरिफ ने आरोप लगाते हुए कहा था कि डीएसपी 500 रुपए प्रति ट्रक के हिसाब से महीना बांधने का दबाव बना रहे हैं। इस हिसाब से हमारे पास कुल 70 से 75 ट्रक हैं। अगर हम इस हिसाब से पैसे देंगे तो हमें हर महीने 40 हजार महीने देने होंगे।

ट्रांसपोर्टर मोहम्मद आरिफ
ट्रांसपोर्टर मोहम्मद आरिफ

ट्रांसपोर्टर ने आरोप लगाते हुए कहा था कि इनमें से 6 ट्रकों को उन्होंने बिना चालान काटे ही जाने दिया, लेकिन कोयला लदी ट्रकों का परमिशन वाले बिल्टी पत्र को अपने पास रख लिया। एक ट्रक को शनिवार की सुबह से शाम तक पुलिस लाइन में खड़ा करके रखा था। ट्रांसपोर्टर ने सवाल उठाते हुए कहा कि पकड़े गए सभी ट्रक नो एंट्री में गए थे तो इन्हें बिना चालान के छोड़ क्यों दिया गया और सिर्फ एक ट्रक को ही जमानत के तौर पर क्यों रोककर रखा गया है। आरिफ ने कहा था कि हमें लगातार इस तरह से परेशान किया जाता है और पैसों की डिमांड कि जाती है। डिमांड पूरी नहीं करने पर साफ तौर पर कहा जाता है कि सड़कों पर चलने नहीं दिया जाएगा। इसके बाद दीपका ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने एसपी से शिकायत करने का फैसला किया था।

तथ्यों के आधार पर कार्रवाई होगी
अब इस मामले को SP ने गंभीरता से लिया है। सोमवार शाम को एक आदेश जारी कर कहा है गया है कि विगत दिनों मीडिया के माध्यम से ट्रैफिक डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार की ओर से मालवाहक वाहनों से 500 रुपए वसूली के संबंध में शिकायत मिल रही थी। इस पर एसपी भोजराम पटेल ने खुद संज्ञान लिया है और एएसपी अभिषेक वर्मा को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने यह भी कहा है कि शिकायत जांच पर पाए गए तथ्यों के आधार पर उचित वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

डीएसपी ने कहा था- बेबुनियाद आरोप
इस मामले में डीएसपी शिवचरण सिंह परिहार ने कहा था कि ट्रक चालक नो एंट्री में कोयले का परिवहन कर रहे थे, जो कि नियम विरुद्ध है। इसीलिए उन्हें पकड़ा गया था। ट्रांसपोर्टर के 500 रुपए महीने मांगने के आरोप पर कहा था कि ट्रक चालक जब नियम विरुद्ध ढंग से ट्रकों का संचालन करते हैं। पकड़े जाने पर इस तरह के आरोप लगाते हैं, जो कि बेबुनियाद हैं।

खबरें और भी हैं...