परेशानी / फ्लोराइड रिमूवल प्लांट में आई खराबी ग्रामीणों को नहीं मिल रहा साफ पानी

X

  • 600 हैंडपंप में लगे प्लांट, इनमें से 250 प्लांट जाम, विभाग को शिकायत का इंतजार

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

कोरबा. जिले के पोड़ी उपरोड़ा ब्लाॅक के साथ ही कई वनांचल गांवों में फ्लोराइड की समस्या है। लोगों को साफ पानी मिले इसके लिए 600 हैंडपंप में रिमूवल प्लांट लगाया गया है। जिसमें से 250 प्लांट जाम होने से बंद हो गए हैं।
सुधार नहीं होने से लोगों को साफ पानी नहीं मिला है। पीएचई का कहना है कि शिकायत मिली तो सुधार करवाएंगे। वैसे भी दो साल तक सुधारने का जिम्मा ठेका कंपनी का है। बारिश होने के बाद भूजल स्रोत ऊपर आ जाता है। इस वजह से भी कई रिमूवल प्लांट जाम हो गए हैं। पोड़ी उपरोड़ा ब्लाॅक के कोरबी, फुलसर, कौवाताल के साथ कोरबा ब्लाॅक के जामबहार, रुकबहरी, सोनपुरी में लगाए गए प्लांट खराब पड़ा हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि इसकी नियमित सफाई नहीं होती। जिसके कारण साफ पानी नहीं मिल पाता। मजबूरी में उसी पानी का उपयोग करते हैं। फुलसर के नेपाल सिंह व राजकुमार ने बताया कि लंबे समय से साफ पानी नहीं मिल रहा है। इधर उधर से व्यवस्था कर पीने का पानी लाते हैं। 

अधिक फ्लोराइड से हड्‌डी संबंधी रोगाें की समस्या
पानी में फ्लोराइड की अधिकता होने और इसका उपयोग होने पर अस्थि रोग की समस्या आती है। पोड़ी उपरोड़ा ब्लाक के फुलसर में तो 10 में से 7 लोग इससे प्रभावित हैं। कई लोगों के हाथ पैर टेढ़े मेढ़े हो गए हैं। कई लोग दांत खराब हो गए हैं। इसकी वजह से इन गांवों में स्वास्थ्य विभाग समय समय पर जाकर लोगों की जांच करता है।

दो साल तक ठेकेदार करते हैं मरम्मत: एसडीओ
पीएचई कटघोरा के एसडीओ पीपी पैकरा का कहना है कि फ्लोराइड प्रभावित हैंडपंप में रिमूवल प्लांट लगाने के बाद दो साल तक मरम्मत का जिम्मा ठेकेदार का होता है। अगर कहीं कोई समस्या है तो उसे सुधरवाया जाएगा। साथ ही विभाग की ओर से मरम्मत करायी जाती है। अभी नए रिमूवल प्लांट नहीं लगाए गए हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना