कैसे लगेगी वैक्सीन:काेरिया में 18+ पर 4 लाख लाेग, 1 मई से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन के लिए बचे हैं सिर्फ 4 हजार ही डोज

बैकुंठपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चिंता- वैक्सीन की कमी से जिले के ग्रामीण अंचल के कई केंद्रों पर टीकाकरण फिर एक बार बंद हो चुका
  • इधर भी जरा दें ध्यान... स्टोरेज में को-वैक्सिन के 4 हजार डोज और कोविशील्ड के सिर्फ सौ डोज बचे, ग्रामीण क्षेत्र के कई केंद्रो पर टीकाकरण बंद

1 मई से प्रस्तावित कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण कोरिया जिले में समय पर शुरू नहीं हो पाएगा। कारण है कि जिले में वैक्सीन कम पड़ गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार स्टोरेज में कोवैक्सिन के 4 हजार डोज और कोविशील्ड के सिर्फ 100 डोज बचे हैं। ऐसे में वैक्सीन आने के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि 18 से 44 वर्ष तक के लोगों के लिए टीकाकरण का अभियान वास्तव में कब से शुरू हो पाएगा।

चिंता यह है कि वैक्सीन की कमी से जिले के ग्रामीण अंचल के कई केंद्रों पर टीकाकरण फिर एक बार बंद हो चुका है। बता दें कि जिले में अब तक 1 लाख 11 हजार 117 वैक्सीन लगाए गए हैं। इसमें 99 हजार 163 लोग पहला डोज, जबकि सिर्फ 11 हजार 954 लोगों को दूसरे डोज का टीका लगा है। वर्तमान में 45+ वालों का टीकाकरण जिलेभर के केंद्रों पर चल रहा है, जिनको दूसरा डोज भी लगना है। जिले में यह टारगेट वैक्सीन की कमी लगातार बने रहने के कारण पूरा नहीं हो पाया है।

ऐसे में जिले में 18+ वाले लाेगाें का टीकाकरण शुरू करने की योजना पर संशय बना हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी बता रहे हैं कि केंद्रों पर व्यवस्थाएं और संसाधन सीमित ही उपलब्ध हैं। ऐसे में वैक्सीन की कमी पूरी होने के बाद जिला प्रशासन यह तय करेगी कि 18+ वालों का टीकाकरण कब से शुरू करना है, इसलिए फिलहाल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने का कोई फायदा नहीं है। जब तक जिला प्रशासन की ओर से गाइडलाइन नहीं आ जाती तब तक वैक्सीन लगवाने के लिए युवाओं को इंतजार करना होगा।

इधर खबर है कि कोवैक्सि उत्पादक भारत बायोटेक ने प्रदेश सरकार को साफ कह दिया है कि कंपनी जुलाई के अंतिम सप्ताह से पहले राज्य को टीका नहीं दे पाएगी। कोवीशील्ड की उत्पादक सीरम इंस्टीट्यूट से अब तक सरकार को कोई जवाब नहीं मिला है। ऐसे में कोरिया जिले के साथ पूरे प्रदेश में टीके की कमी बनी हुई है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एस एस सिंह ने बताया कि यह सच है कि जिले में वैक्सीन की कमी बनी हुई है, केंद्र के अनुसार 18+ वालों के लिए 1 मई से टीकाकरण तय था, लेकिन वैक्सीन की कमी को देखते हुए जब तक जिला प्रशासन की ओर से गाइडलाइन नहीं आ जाती तब तक कुछ भी कहना संभंव नहीं होगा। यदि वैक्सीन की कमी पूरी नहीं हुई तो टीकाकरण शुरू नहीं हो सकेगा।

पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू, लेकिन बुकिंग नहीं होगी

गौरतलब है कि जिले में अब तक 45 वर्ष व उससे अधिक उम्र के 88 हजार 103 लोगों को पहला डोज व 3 हजार 752 को दूसरा डोज लगाया गया है। वहीं 7 हजार 342 स्वास्थ्य कर्मचारी पहला डोज व 5 हजार 515 दूसरा डोज ले चुके हैं। इसी प्रकार 3 हजार 718 फ्रंट लाइन वर्कर पहला डोज व 2 हजार 687 ने दूसरे डोज का टीका लगवा लिया है। यानी दो लाख का लक्ष्य पूरा नहीं हुआ है। इधर 18+ में जिले में करीब चार लाख से अधिक युवा हैं। अफसर बता रहे हैं कि 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के रजिस्ट्रेशन के लिए कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु एप खुल गए हैं। उसमें रजिस्ट्रेशन भी हो जाएगा। लेकिन वैक्सीन की उपलब्धता के बिना टीकाकरण केंद्र और समय का स्लॉट बुक नहीं कर पाएंगे। ऐसे में रजिस्ट्रेशन का कोई मतलब नहीं होगा।

बिना रजिस्ट्रेशन कराए नहीं लगेगी वैक्सीन

केंद्र सरकार ने यह साफ कर दिया है कि 18 साल से 45 साल के लोगों को वैक्सीन बिना रजिस्ट्रेशन नहीं लगाई जाएगी। इसके लिए भी कोविन वेब पोर्टल के जरिये रजिस्ट्रेशन करना होगा। कोविन पोर्टल https://selfregistration.cowin.gov.in/ पर लॉगिन कर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सिनेशन सेंटर पर रजिस्ट्रेशन की सुविधा पहले की तरह जारी रहेगी, लेकिन 18 प्लस वालों के लिए कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन जरूरी होगा।

कोल्ड चेन पाइंट को मेंटेन करने की तैयारी शुरू

मई-जून के दौरान 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के टीकाकरण के समय वैक्सीन की खपत तेज होगी। इसके साथ ही इसके रखरखाव का पूरा ध्यान देना होगा। इसके लिए स्टोरेज से लेकर सेंटर तक कोल्ड चेन पॉइंट मेंटेन करना होगा। हर सेंटर पर इसके इंतजाम रहेंगे। इसे लेकर तैयारी अभी से शुरू कर दी गई है। जिला स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक एक हफ्ते पहले जिले में 35 सौ डोज मिले थे, इसके बाद सप्लाई नहीं हुई।

वैक्सीन उपलब्धता के अाधार पर मिलेगी सूचना

18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लिए अब तक राज्य सरकार से अनुदेश नहीं मिला है। वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार राज्य सरकार से अनुदेश जारी होगा। इसके बाद ही वैक्सीन लगाई जाएगी। केंद्र ने 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए आदेश जारी कर दिया है। लेकिन राज्य सरकार से अनुदेश मिलने के बाद जिला प्रशासन इसके लिए तैयारी करेगा और सूचना दी जाएगी।
डॉ. एसएस सिंह, जिला टीकाकरण अधिकारी कोरिया

खबरें और भी हैं...