महामारी में मजबूरी:कोरोना के बीच शादियों के लिए लगाई 1160 अर्जियां, गाइडलाइन के अनुसार होंगी शादियां

बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोग कह रहे- कब तक रुकें, अब नहीं हो रहा इंतजार, गाइड लाइन के अनुसार करने तैयार हैं

अभी कोरोना संक्रमण का सबसे कठिन दौर चल रहा है, हर दिन संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। सीमित विकल्पों के साथ आयोजन करने के शासन ने निर्देश दिए है। जिले भर में शादी करने की अनुमति के लिए मार्च-अप्रैल में 1160 अर्जियां लगी हैं।

लोग कह रहे हैं कि अब कब तक रुकें, पिछले साल भी लॉकडाउन लगने के कारण समारोह को टाल चुके हैं सालभर इंतजार किया लेकिन अब मजबूरी है। शासन की अनुमति मिलने के बाद लोग मजबूरी में सरकार की गाइडलाइन के अनुसार समारोह निपटाने को तैयार हैं। जिले के सभी अनुभागों से मिले आंकड़ों पर गौर करें तो सिर्फ मार्च और अप्रैल में ही 1160 अर्जियां शादियों के लगी। कोरोना से लोग जरूर डरे हुए हैं लेकिन आयोजनों को सरकार के दिए गए विकल्पों के साथ निपटाना जरूरी समझ रहे हैं।

बिलासपुर शहर के रहने वाले शिवशंकर वस्त्रकार ने बताया कि पहले 29 अप्रैल को शादी का आयोजन घर पर था लेकिन अब वे 8 मई को शादी का आयोजन कर रहे हैं। आयोजन के संबंध में उनका कहना है कि वर-वधु पक्ष से 20 लोग ही इसमें शामिल होंगे। लॉकडाउन की वजह से कुछ परेशानियां जरूर आईं लेकिन अब वे किसी तरह इसे निपटा रहे हैं। यदुनंदन नगर निवासी रमेश चंद्र शास्त्री बताते हैं कि उनके यहां शादी पिछले वर्ष मार्च-अप्रैल के दौरान ही लगी थी। तब कार्ड भी छप गए थे लेकिन उस वक्त भी लॉकडाउन की वजह से शादी कैंसिल हो गई। इस साल भी वही स्थिति है। पिछले साल के निमंत्रण कार्ड रखे हुए हैं। हम कब तक आयोजनों को कैंसिल करते रहें इसलिए सरकार के दिए गए विकल्पों के साथ आयोजन कर रहे हैं।

हमने वधू पक्ष को भी घर के पास ही एक मकान में ठहराने की व्यवस्था की है। शादी में वर-वधू पक्ष से 20 से कम लोग ही शामिल होंगे। हमने किसी भी रिश्तेदारों को नहीं बुलाया है। आयोजन में भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा। खैरा निवासी कमल प्रसाद केवट ने बताया कि उनके यहां 29 अप्रैल को शादी है। खैरा से वर पक्ष की बारात कोरबा जिले में जा रही है लेकिन सीमित लोगों के साथ वे शादी को निपटा रहे हैं।

जानिए कहां कितने आवेदन

जिले के बिलासपुर अनुभाग में अप्रैल और मार्च के 270 आवेदन शादियों की मंजूरी के लिए आए हैं। मस्तूरी अनुभाग में 300 कोटा में 40 बिल्हा में 150 और तखतपुर में 400 आवेदन अप्रैल तक की शादी के लिए आ चुके हैं।

खबरें और भी हैं...