पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

फैल रहा संक्रमण:320 नए कोरोना पॉजिटिव, डिप्टी कलेक्टर और डॉक्टर भी संक्रमित

बिलासपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीसरी बार 300 प्लस मरीज मिले, 4 सितंबर को मिले थे 318 केस

डिप्टी कलेक्टर अंशिका पांडेय कोरोना की चपेट में आ गई हैं। रेलवे ऑफिसर्स कालोनी में रहने वाली 30 वर्षीय डिप्टी कलेक्टर ने सोमवार को एंटीजन से अपनी जांच कराई और कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है। अब उनके संपर्क में रहने वाले साथी अफसरों के भी टेस्ट होंगे। इधर पुलिसकर्मी, डॉक्टर, रेलवे, हाईकोर्ट, आरपीएफ, सीआरपीएफ और स्वास्थ्यकर्मियों सहित जिले में 320 नए कोरोना मरीज मिले हैं। पहली बार इतनी ज्यादा संख्या में एक दिन में कोरोना मरीजों की पहचान की गई है। इससे पहले 4 सितंबर को सबसे ज्यादा 318 मरीज मिले थे। फिर 11 सितंबर को 308 कोरोना पॉजिटिव हुए थे लेकिन मंगलवार को सबसे ज्यादा मरीजों की पहचान की गई है। कोरोना काल में सिर्फ तीन बार ही 300 प्लस मरीज आए हैं। नए संक्रमितों को जोड़कर अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 5334 पहुंच गई है।

कोतवाली और सिविल थाना चपेट में
पुलिसकर्मी और उनके परिवार के सदस्य भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। मंगलवार को पुलिस लाइन, सिविल लाइन कालोनी के अलावा कोतवाली थाना में कोरोना मरीज मिला है। सिविल लाइन में 35, 46, 31 वर्षीय मरीज मिले हैं। इसके अलावा पुलिस लाइन में 51, 27 और 49 साल के तीन मरीज मिले हैं। कोतवाली थाने में 29 वर्षीय मरीज की पहचान हुई है। वहीं पुलिस ऑफिसर्स मेस में 50 वर्ष के डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। पुलिस कालोनी तिफरा में 28 वर्षीय महिला संक्रमित हुई है।

तीन मोहल्लों में मिले 9 संक्रमित : राजकिशोर नगर देविका विहार, टिकरापारा और वेयर हाउस रोड में एक ही परिवार के तीन-तीन लोग पॉजिटिव हुए हैं। राजकिशोर नगर देविका विहार में 18, 16 और 16 वर्षीय तीन मरीज मिले। वेयर हाउस रोड में 42, 13 और 43 साल के मरीज मिले। टिकरापारा में 65, 26, 32 साल के मरीज मिले।

आरपीएफ कालोनी और सीआरपीएफ में मिले दो मरीज : आरपीएफ कालोनी और सीआरपीएफ में दो मरीज मिले हैं। 45 और 30 वर्षीय दो पुरुषों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रेलवे कालोनी में 49 वर्षीय एक मरीज की पहचान हुई है। अब इन दो मरीजों के संपर्क में आने वालों की जांच होगी।

30 मरीज डिस्चार्ज, अब तक 1772 ठीक हुए
थोड़ी राहत की खबर यह है कि जिले में मरीजों के ठीक होने के आंकड़े भी बढ़ रहे हैं। मंगलवार को 30 मरीज अलग-अलग अस्पतालों से डिस्चार्ज हुए। अब तक 1772 मरीज ठीक हुए हैं। तो 3470 कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। जिले में मरीजों के ठीक होने की दर 33.22 है। जबकि रविवार को दर 37.17 पहुंच गई थी।

जो पॉजिटिव के संपर्क में उनकी जांच होगी, जांच केन्द्रों की संख्या बढ़ाएंगे

कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने जिलेे में कोविड- 19 संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए की जा रही व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने संक्रमण जांच के लिए स्थाई सेंटर और मोबाइल टीम की संख्या बढ़ाने और सैम्पल जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया। कोरोना को हराकर वापसी करने वाले कलेक्टर ने मंथन सभाकक्ष की बैठक में स्वास्थ्य व निगम के अधिकारियों से कहा कि जो व्यक्ति कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए हैं या जो सर्दी, खांसी से पीड़ित हैं उनका कोरोना टेस्ट सर्वोच्च प्राथमिकता से किया जाए। उन्होंने एंटीजन टेस्ट पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा। जिले में सैम्पल जांच के लिए 26 केन्द्र, 40 टीमें और 15 मोबाइल टीम कार्यरत है। बिल्हा, कोटा, रतनपुर, बेलगहना, टेंगनमाड़ा और चपोरा के सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में कोविड 19 के सैम्पल जांच की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। मोपका एवं बहतराई के उप स्वास्थ्य केन्द्रों में यह सुविधा शीघ्र शुरू करने और गांधी चौक स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और यदुनंदन नगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कोरोना जांच शीघ्र चालू करने के निर्देश दिए।

जिले में कोरोना पीड़ित 3 मरे, दो की रिपोर्ट बाकी
जिले में कोरोना पीड़ितों की मौतों का दौर जारी है। मंगलवार को अलग-अलग अस्पतालों में दो मरीज और तीन संदेही की मौत हुई है। दो मौतों को मिलाकर अब जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 92 पहुंच गई है। सिम्स में कुदुदंड में रहने वाली 60 वर्षीय महिला की मौत हुई है। तखतपुर निवासी 54 वर्षीय महिला ने आरबी अस्पताल में दम तोड़ा है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन निवासी 48 साल के पुरुष की भी सिम्स में मौत हुई है। मृतक की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट आना बाकी है। वहीं चुचुहियापारा वार्ड नंबर-7 गणेश नगर अन्नपूर्णा कालोनी में रहने वाले 40 वर्षीय पुरुष ने सिम्स में दम तोड़ा। इनकी भी कोरोना रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

दूसरे जिले के पांच मरीजों की शहर में मौत
इधर बिलासपुर जिले की दो मौतों के अलावा शहर के अस्पतालों में दूसरों जिले के मरीजों ने भी अंतिम सांस ली है। वार्ड नंबर 7 केसवहीबुधा शहडोल निवासी 32 वर्षीय पुरुष की कोविड अस्पताल में मौत हुई है। वहीं कोविड अस्पताल में 62 वर्षीय बुजुर्ग ने भी दम तोड़ा है जो जांजगीर चांपा का रहने वाला है। वहीं भाटापारा में रहने वाली 55 वर्षीय महिला ने अपोलो में दम तोड़ा है। इसके अलावा कटघोरा निवासी 46 वर्षीय पुरुष की मोत भी अपोलो में हुई है। अपोलो में तीसरी मौत एनटीपीसी कालोनी कोरबा पाली निवासी की हुई।

डीएफओ कार्यालय सील
कोरोना वायरस की दस्तक मंगलवार को डीएफओ तथा सीसीएफ के कार्यालय तक पहुंच गई। डीएफओ कार्यालय में कार्यरत 4 कर्मचारियों की जांच के बाद कोरोना होने की पुष्टि हुई है। वहीं सीसीएफ कार्यालय में पदस्थ एक कर्मचारी के भी कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिल रही है। इस स्थिति को देखते हुए डीएफओ कुमार निशांत ने अपना ऑफिस 2 दिन के लिए सील करवा दिया है।

11 दिन में 12 मरीजों को मरते देखा, डॉक्टरों के बताए रास्ते पर चली और अब जिंदा बच गई
57 वर्षीय नीरू बाली का घर तिफरा में है। 11 दिन लगातार कोरोना से लड़ीं और अब जाकर उन्हें जीत मिली है। उन्होंने बताया कि उनके लंग्स में इतना ज्यादा कोरोना का इंफेक्शन था कि भूख-प्यास सबकुछ मिट चुकी थी। सांस लेने में इतनी ज्यादा तकलीफ होने लगी थी कि ऐसा लगने लगा था कि अब जिंदगी बच पाना मुश्किल है। समय पर कोविड अस्पताल में भर्ती हो गई और बेहतर इलाज के कारण आज मैं जिंदा हूं। उन्होंने कोविड अस्पताल के डॉक्टर और सभी स्वास्थ्यकर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि कोरोना से तभी बच सकते हैं जब आप डॉक्टर के बताए गए नियमों को पूरी तरह पालन करें, अन्यथा बचना बहुत मुश्किल है। मैं 11 दिन कोविड अस्पताल में भर्ती रही। पांच दिन ऑक्सीजन पर थी। रोज एक या दाे मरीजों की मौत हो रही थी। वेंटिलेटर पर तड़प कर मरीज मर रहे थे, इसमें डॉक्टरों का काेई दोष नहीं था क्योंकि लास्ट स्टेज में मरीज आते थे और दो से चार घंटे में मर जा रहे थे, मेरे सामने 12 मरीज मरे हैं। जिस दिन मैं अस्पताल से रिलीज हुई उस दिन भी तीन लोगों की लाशें देखीं। ऐसा समय मैंने जिंदगी में पहली बार देखा। कई बार तो ऐसा महसूस हो रहा था कि मेरा बचना भी मुश्किल है। लेकिन डॉक्टरों के बताए गए नियमों का पालन किया और अंत में मुझे कोरोना से जीत मिली। शुक्रगुजार हूं उन डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों का जिन्हाेंने मेरे जान बचाई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें