पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एयू का अनोखा आदेश:नौ दिन में करना है 6 लाख उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 31 अक्टूबर के बाद नहीं दिया जाएगा जांच का समय

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हिंदी, अंग्रेजी, समाजशास्त्र के शिक्षकों की जांचने की लिमिट पूरी, करीब डेढ़ लाख कॉपियां हैं

अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी ने नियमित अंतिम वर्ष, प्राइवेट सभी वर्ष, भूतपूर्व छात्र, सप्लीमेंट्री और एटीकेटी के 1 लाख 25 हजार छात्रों की परीक्षा ली है। छात्र स्पीड पोस्ट के माध्यम से अपनी उत्तरपुस्तिका कॉलेजों में भेज दी है। छात्रों की उत्तरपुस्तिकाएं एयू से संबद्ध 175 कॉलेजों में डंप हैं। 1 लाख 25 हजार छात्रों की लगभग 6 लाख उत्तरपुस्तिकाएं हैं। अब ऐसे में यूनिवर्सिटी ने कॉलेजों को एक अनोखा आदेश जारी किया है कि किसी भी कीमत पर सभी उत्तरपुस्तिकाएं 31 अक्टूबर तक चेक हो जानी चाहिए। तारीख बिल्कुल भी नहीं बढ़ाई जाएगी, क्योंकि नवंबर में छात्रों की कक्षाएं शुरू करनी है। यूनिवर्सिटी ने कहा है कि मूल्यांकन का पैसा कॉलेज को भेज दिया गया है। वहीं कॉलेजों में अभी मूल्यांकन शुरू नहीं हुआ है। सभी कापियां डंप पड़ी हैं। हिंदी, अंग्रेजी और समाजशास्त्र की लगभग डेढ़ लाख से अधिक उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन होना है। इन विभागों में शिक्षकों की मूल्यांकन करने की लिमिट पूरी हो गई है। यूनिवर्सिटी के नियम के अनुसार एक शिक्षक 50 हजार रुपए तक की उत्तरपुस्तिका चेक कर सकता है। अब ऐसे में यूनिवर्सिटी ने अभी तक लिमिट भी नहीं बढ़ाया है। कुछ शिक्षकों का कहना है कि वे उत्तरपुस्तिका नहीं चेक करेंगे, क्योंकि यूनिवर्सिटी समय पर पैसा नहीं देती है। अगर ऐसी स्थिति रही तो समय से एयू रिजल्ट जारी नहीं कर पाएगी। इससे छात्रों का नुकसान होगा। छात्रों को पीजी में एडमिशन लेने परेशानी आएगी। साथ ही पीजी के द्वितीय सेमेस्टर छात्रों का असाइनमेंट के आधार पर वाइबा और चतुर्थ सेमेस्टर के छात्रों की प्रायोगिक परीक्षा ऑनलाइन कराने कहा गया है। एयू ने इसके लिए कॉलेजों को 15 दिन का समय दिया है।

अधिकांश प्राध्यापकों का आरोप, एयू हमें नहीं देती मूल्यांकन के लिए कॉपियां
प्राइवेट कॉलेजों के शिक्षकों का कहना है कि एयू खास शिक्षकों से ही मूल्यांकन करा रही है और उन्हीं शिक्षकों की लिमिट बढ़ाने की बात कह रही है, जबकि अधिकांश ऐसे शिक्षक हैं, जो कापियों के मूल्यांकन के लिए पात्र हैं, इसके बाद भी उन्हें कापियां नहीं मिल रही है। अब स्थिति ये है कि शिक्षकों की लिमिट पूरी हो गई है। वे कापियां जांचने मना कर दिए हैं। कॉलेज अन्य शिक्षकों से चेक करा रहे हैं। 9 दिन में 6 लाख कापियां चेक होनी है तो केवल कोरम पूरा किया जाएगा।

सीएमडी में समाजशास्त्र का विषय पर कापी जांचने वाला कोई नहीं
सीएमडी कॉलेज में समाजशास्त्र की पढ़ाई होती है। काॅलेज छात्रों का एडमिशन लेती है। पूरे साल पढ़ाई भी करवाती है। जब उत्तरपुस्तिका के मूल्यांकन की बात आई तो काॅलेज ने यूनिवर्सिटी से कहा है कि उनके पास मूल्यांकन करने वाला कोई शिक्षक ही नहीं है। अब यूनिवर्सिटी का आरोप है कि जब मूल्यांकन करने के लिए शिक्षक नहीं तो कॉलेज में साल भर छात्रों को पढ़ाता कौन है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें