• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Administration Strict On CIMS Regarding Covid 19 Management | Bilaspur Collector Wrote A Letter To Chhattisgarh Additional Chief Secretary Demanding Appointment Of ADM As Administrator

CIMS पर सख्ती:​​​​​​​बिलासपुर मेडिकल कॉलेज प्रबंधन और लोगों बीच समन्वय नहीं; कलेक्टर ने ACS को लिखा पत्र, कहा- ADM को बना दें प्रशासक

​​​​​​​बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिलासपुर कलेक्टर ने पत्र में कहा है, CIMS प्रबंधन और आम जनता के बीच समन्वय का अभाव होने के कई मामले प्रशासन के संज्ञान में आ रहे हैं।कोविड से उत्पन्न परिस्थितियों का निराकरण संभव नहीं हो पा रहा है। - Dainik Bhaskar
बिलासपुर कलेक्टर ने पत्र में कहा है, CIMS प्रबंधन और आम जनता के बीच समन्वय का अभाव होने के कई मामले प्रशासन के संज्ञान में आ रहे हैं।कोविड से उत्पन्न परिस्थितियों का निराकरण संभव नहीं हो पा रहा है।

कोविड संक्रमण काल के दौरान विवादों से घिरे छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित CIMS (छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस) पर जिला प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद अब कलेक्टर ने ACS (अपर मुख्य सचिव) को पत्र लिखकर ADM को प्रशासक नियुक्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि CIMS प्रबंधन और लोगों के बीच समन्वय नहीं है।

CIMS को लेकर बार-बार शिकायतें सामने आ रही हैं। मरीजों के परिजन लगातार अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं। कभी भर्ती मरीज को वेंटिलेटर नहीं मिलता तो कभी बाहर से बुलाने के बाद भी बेड उपलब्ध नहीं कराया जा रहा। ऐसे में कई मरीजों की मौत हो चुकी है। अंदर भर्ती मरीज भी अक्सर अपने परिजनों से लापरवाही को लेकर बताते रहते हैं। इस संबंध में प्रशासन के पास भी शिकायतें आ रही हैं।

कलेक्टर ने अपर मुख्य सचिव को पत्र लिखकर CIMS में कोविड-19 के प्रबंधन के लिए ADM को प्रशासक नियुक्त करने की मांग की है।
कलेक्टर ने अपर मुख्य सचिव को पत्र लिखकर CIMS में कोविड-19 के प्रबंधन के लिए ADM को प्रशासक नियुक्त करने की मांग की है।

संभाग के अन्य जिलों से भी भर्ती होने आते हैं मरीज, 142 बेड का कोविड अस्पताल
कलेक्टर ने इन शिकायतों को गंभीरता से लिया है। इसे लेकर CMIS के लिए अलग से प्रशासक/नोडल अधिकारी नियुक्त करने की मांग रखी गई है। कलेक्टर की ओर से कहा गया है कि मेडिकल कॉलेज में संभाग के अन्य जिलों के मरीज भी भर्ती हो रहे हैं। यहां RT-PCR लैब, ट्रू नॉट जांच सहित 142 बिस्तरों का कोविड अस्पताल संचालित है। इसके बाद भी CIMS प्रबंधन और आम जनता के बीच समन्वय का अभाव होने के कई मामले प्रशासन के संज्ञान में आ रहे हैं।

ऐसे हालत में कोविड से आ रहे हालातों का निराकरण संभव नहीं
ACS को 29 अप्रैल को लिखे पत्र में कलेक्टर ने यहां तक कहा है कि इस तरह के अधिक मामलों को देखते हुए कोविड से उत्पन्न परिस्थितियों का निराकरण संभव नहीं हो पा रहा है। ऐसे में ADM नुपूर राशि पन्ना को CIMS में कोविड-19 प्रबंधन के समुचित समन्वय और समीक्षा के लिए प्रशासक/ नोडल अधिकारी का अतिरिक्त प्रभार सौंपा जाए। माना जा रहा है कि CIMS प्रबंधन में आ रही लापरवाही को देखते हुए निर्णय लिया गया है।

खबरें और भी हैं...