50 ट्रेनें कैंसिल की और सिर्फ 5 में एक्स्ट्रा कोच:मनमानी कर रहा है रेलवे, बची हुई ट्रेनों में जबरदस्त भीड़

बिलासपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रेनें कैंसिल होने के बाद दूसरी गाड़ियों में बढ़ी यात्रियों की भीड़। - Dainik Bhaskar
ट्रेनें कैंसिल होने के बाद दूसरी गाड़ियों में बढ़ी यात्रियों की भीड़।

समर वेकेशन के बीच ट्रेनों को कैंसिल करने का असर दूसरी ट्रेनों में दिखने लगा है। अचानक ट्रेनों को रद्द करने के बाद दूसरी गाड़ियों में यात्रियों का दबाव बढ़ गया है और कन्फर्म बर्थ के लिए मारामारी हो रही है। इसे देखते हुए रेलवे ने पांच ट्रेनों में एक्स्ट्रा कोच लगाने का फैसला लिया है।

कोरोना के दो साल बाद ट्रेनें शुरू हुई हैं। ऐसे में ग्रीष्मकालीन अवकाश के साथ ही शादी के सीजन में यात्रियों की भीड़ एकाएक बढ़ गई है। इधर, रेलवे बोर्ड ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से होकर चलने वाली 50 से अधिक एक्सप्रेस और लोकल ट्रेनों को बंद कर दिया है। इसके चलते दूसरी गाड़ियों में यात्रियों की भीड़ बढ़ गई और कंफर्म बर्थ पाने के लिए यात्रियों में होड़ मची है। बर्थ नहीं मिलने के कारण यात्रियों को सफर कैंसिल भी करना पड़ रहा है। इसके चलते यात्री सुविधा को देखते हुए रेलवे ने दुर्ग- भोपाल एक्सप्रेस, बिलासपुर-इंदौर, बिलासपुर-रायपुर पैसेंजर में एक्स्ट्रा स्लीपर कोच के साथ ही गेवरारोड व शिवनाथ एक्सप्रेस में एक- एक सामान्य कोच जोड़ने का फैसला लिया है।

पांच ट्रेनों में इस दिन लगेगा एक्स्ट्रा कोच
सात व आठ मई को दुर्ग- भोपाल एक्सप्रेस, बिलासपुर- इंदौर नर्मदा एक्सप्रेस, सात व दस मई को बिलासपुर - रायपुर पैसेंजर के साथ ही सात व दस मई को गेवरारोड व शिवनाथ एक्सप्रेस में एक्स्ट्रा कोच की व्यवस्था की गई है।

वेटिंग लिस्ट देखकर लिया निर्णय
रेलवे के अफसरों ने बताया कि जिन गाड़ियों में वेटिंग लिस्ट ज्यादा है, मतलब की ढाई से 300 तक वेटिंग लिस्ट पहुंच गया है। उन गाड़ियों में अतिरिक्त कोच की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। यात्रियों की डिमांड बढ़ने एक्स्ट्रा कोच की अवधि भी बढ़ाई जा सकती है।

खबरें और भी हैं...