एनटीपीसी की नई पहल:ब्रिक्स के अलावा अब फ्लाई ऐश से बनेगी टाइल्स

बिलासपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एनटीपीसी अपनी फ्लाई ऐश का उपयोग कर टाइल्स का निर्माण करेगा। अब तक ब्रिक्स और दूसरे कामों के लिए एनटीपीसी फ्लाई ऐश निशुल्क उपलब्ध कराता आ रहा है। इससे टाइल्स अन्य जगहों से किफायती दरों पर भी मिलेगी। एनटीपीसी की इस नई पहल से गिट्‌टी, बालू और प्राकृतिक संसाधनों का दोहन भी कम होगा। राज्य के बिलासपुर सीपत में स्थापित एनटीपीसी सीपत स्टेशन एनटीपीसी लिमिटेड का चौथा सबसे बड़ा बिजली उत्पादन करने वाला प्लांट है।

सीपत स्टेशन एनटीपीसी के अग्रणी कोयला आधारित पावर स्टेशनों में से एक है। इस प्लांट से बिजली बनाने की प्रक्रिया में निकलने वाला राख जिसका रखरखाव बहुत बड़ी समस्या है। इसी समस्या से बचने एनटीपीसी नया प्रयोग कर रहा है।अब तक राखड़ से ब्रिक्स (ईंटा) बनते तो सभी ने देखा है।

अब एनटीपीसी राखड़ से ही कई प्रकार के बिल्डिंग मटेरियल का निर्माण भी कर रहा है जिसमे बालू, टाइल्स, गिट्टी का निर्माण भी शामिल है। फ्लाई ऐश से संबंधित उत्पादों को बढ़ावा देने एनटीपीसी सीपत ने रायपुर में एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया था जिसमें राज्य भर के बिल्डर्स को बुलाकर उससे संबंधित उत्पादों को प्रदर्शन किया गया था। इसमें अतिथि के रूप में एनटीपीसी रायपुर के महाप्रबंधक पीयूष सक्सेना, जीएम (ओएस) एवं क्रेडाई के अध्यक्ष, मृणाल गोलछा व सुनील तापड़िया भी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...