पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम:2012 जैसी ठंड दस वर्षों में नहीं पड़ी, तब पारा 5.4 था

बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार शहर का तापमान दो बार 12.2 डिग्री रहा जो रविवार को बढ़कर 13.6 में पहुंच गया

ठंड तो पड़ रही है लेकिन जनवरी 2012 जैसी ठंड पिछले दस वर्षों में नहीं पड़ी है। तब पारा 5.4 डिग्री न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड हुआ था। इस बार यदि पारा इससे नीचे गया तो पुराना रिकॉर्ड टूटेगा और नया बन जाएगा। अभी दो बार पारा 12.2 डिग्री दर्ज हो चुका है जो कि इस साल का अब तक सबसे कम न्यूनतम तापमान है। रविवार को पारा उल्टे कम होने की बजाय बढ़कर 13.6 डिग्री दर्ज हुआ। बीते साल दिसंबर में ठंड का रिकॉर्ड बन गया था। 27 दिसंबर की रात को न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री दर्ज हुआ। इतना कभी दर्ज नहीं हुआ था। इस साल पारा इतना पहुंचेगा या नहीं, इस बारे में मौसम विज्ञानी कुछ भी नहीं कह रहे हैं। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ आने पर है कि यदि ज्यादा पश्चिमी विक्षोभ आए तो जाहिर है, ठंड बढ़ेगी पर इसके लिए अनुकूल वातावरण व मौसम गतिविधियां होनी चाहिए। दिसंबर में वैसे बिलासपुर में ज्यादा ठंड नहीं पड़ती। पर जनवरी में कड़ाके की ठंड पड़ती है। ठंड की वजह से दिनचर्या पर सीधा असर पड़ता है। अभी जन-जीवन उस तरह से प्रभावित नहीं है। सुबह थोड़ी-थोड़ी तो रात को ठंड महसूस हो रही है। रविवार को बिलासपुर का मौसम सामान्य रहा। सुबह हल्की ठंड महसूस हुई। जैसे ही सूरज निकला, धीरे-धीरे तापमान में वृद्धि होने लगी और अधिकतम तापमान 30 डिग्री को पार कर गया। यह 30.2 डिग्री दर्ज हुआ। इधर न्यूनतम तापमान बढ़कर 13.6 डिग्री दर्ज हुआ। एक दिन पहले यह 12.5 डिग्री तो 4 दिसंबर को 12.2 डिग्री, 3 दिसंबर को 12.6 डिग्री, 2 दिसंबर को 13.2 डिग्री तो 1 दिसंबर को 14.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

सर्वाधिक सर्द रातें, जब कड़ाके की ठंड ने बढ़ाई मुश्किलें
30 जनवरी 2019- 7.5
5 जनवरी 2018- 8.1 डिग्री
13 जनवरी 2017- 8.3 डिग्री
24 जनवरी 2016 7.2 डिग्री
11 जनवरी 2015- 7.2 डिग्री
29 जनवरी 2014- 11 डिग्री
9 जनवरी 2013 - 5.8 डिग्री
14 जनवरी 2012- 5.4 डिग्री
8-11 जनवरी 2011- 5.9 डिग्री
20 जनवरी 2010- 7 डिग्री
(स्रोत-मौसम विभाग)

बारिश से बढ़ती है ठंड : 2010 से लेकर 2019 के बीच जनवरी माह में सबसे अधिक बारिश 9.4 सेंटीमीटर 2010 में हुई थी। हालांकि पिछले साल भी जनवरी में 12.7 मिमी, 2017 में 4.3 मिमी, 2916 में 18 मिमी, 2015 में 31 मिमी, 2014 में 1.4 मिमी तो 2010 में 10.6 मिमी हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...