पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला पंचायत की सामान्य सभा:जानकारी मांग रहे हैं मुर्रा लाडू़ थोड़े मांग रहे हैं

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन माह बाद कोनी में हुई, अधूरी जानकारी पर नाराज हुए सदस्य ने कहा-

तीन माह बाद कोनी में हुई जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक में गायब रहने और खुद की जगह प्रतिनिधि भेजने वाले अफसरों पर जिला पंचायत सदस्यों ने अपनी नाराजगी जाहिर की। जिला पंचायत सदस्य राजेश्वर भार्गव ने महिला बाल विकास विभाग प्रमुख के प्रतिनिधि भेजे जाने और अधूरी जानकारी देने पर कहा कि सदस्य सिर्फ जानकारी मांग रहे हैं मुर्रा लाडू थोड़ी ना मांग रहे हैं। जिला पंचायत सीईओ ने भी महिला बाल विकास विभाग से आए प्रतिनिधि को पूरी जानकारी के साथ आने को कहा जबकि जिला पंचायत अध्यक्ष मौन धारण किए रहे।

जिलाा पंचायत में नए पंचायत चुनाव होने के बाद यह पांचवी सामान्य सभा की बैठक थी । दोपहर 12 बजेेे शुरू हुई बैठक में पहले पालन प्रतिवेदन पढ़ा गया। बैठक में एक बार फिर गायब रहने वाले और खुद की जगह अधूरी जानकारी लेकर प्रतिनिधियों को भेजने वाले अफसरों को लेकर हंगामा हुअा। महिला बाल विकास विभाग के जिला प्रमुख सुरेश सिंह को सामान्य सभा की बैठक में आना था लेकिन उन्होंने अपनी जगह प्रतिनिधि को भेज दिया। इसके पहले भी वे कुछ बैठकों में नहीं आए थे। इसे लेकर जिला पंचायत सदस्य नाराज थे।

उनकी जगह पर आए प्रतिनिधि से जब जानकारी चाही गई तब वे थोड़ी बहुत जानकारी दे पाए और फिर जानकारी देने में असमर्थता व्यक्त की। इससे जिला पंचायत सदस्य राजेश्वर भार्गव नाराज हो गए। उन्होंने प्रतिनिधि से कहा जब जानकारी नहीं रहती तो क्यों आते हैं। उनके अलावा और भी कई विभागों के अफसर बैठक में नहीं आए थे। इसके पूर्व सामान्य सभा की बैठक में नहीं आने वाले अफसरों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया जा चुका है। बैठक में गोबर खरीदी में पंचायतों में रिकवरी का मामला जनपद उपाध्यक्ष विक्रम सिंह ने उठाया। उन्होंने कहा कि गोधन योजना में गोबर खरीदी में पंचायतों पर रिकवरी की जानकारी आ रही है। इससे कृषि उपसंचालक ने इंकार किया।

बदला-बदला रहा बैठक का स्वरूप
इस बार सामान्य सभा की बैठक का स्वरूप बदला-बदला सा रहा। कोरोना संक्रमण पूरी तरह समाप्त नहीं होने की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया। बैठक ऊपरी तल पर चल रही थी और भीड़ अधिक न हो इसलिए अफसरों को नीचे ही रूकने की व्यवस्था की गई थी। जिसे बुलाया जाता वहीं अफसर बैठक में शामिल होने जाता था।

मस्तूरी क्षेत्र की सदस्य ने उठाया गौठान में मवेशी नहीं होने का मामला
जिला पंचायत सदस्य चांदनी भारद्वाज ने जिला पंचायत सीईओ हरीस एस से गौठानों में मवेशी नहीं होने का मामला सीईओ ने बताया कि गौठान मवेशी के रूकने का स्थान नहीं है। उन्हें अस्थाई तौर पर वहां लाया जाता है। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि गौठानों में अस्थाई तौर पर भी मवेशियों को नहीं ले जाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...