पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एफआईआर की मांग की थी:बाबू पर ब्लैकमेल का आरोप, एफआईआर दर्ज

बिलासपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सीपत के अतिरिक्त तहसीलदार ने आफिस के एक बाबू पर रीडर का काम देने के लिए दबाव बनाने व एक लाख रुपए मांगने का आरोप लगाया है। उसकी शिकायत पर पुलिस ने आरोपी बाबू के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया। एक दिन पहले ही इस आफिस के एक अन्य बाबू की हार्टअटैक से मौत हो चुकी है और इसके लिए नायब तहसीलदार को ग्रामीणों ने जिम्मेदार बताकर हंगामा मचाया था।

सीपत के अतिरिक्त तहसीलदार तुलसी राठौर के दर्ज कराए एफआईआर के अनुसार तहसील आफिस में पदस्थ कर्मचारी सूर्यवंशी बाबू 58 वर्ष की बीमारी से मौत होने पर ऑफिस के दूसरे बाबू बीपी मिश्रा ने उसके परिवार वालों को प्रताड़ना के कारण मौत होना बताया। अतिरिक्त तसीलदार के अनुसार 4 सितंबर को बीपी मिश्रा उनके चेंबर में घुसकर एक लाख रुपए की मांग की फिर मेन रीडर बनाने की मांग करने लगा और धमकाया। मांग पूरी नहीं होने पर उनके खिलाफ शिकायत करने की बात कही। इसके लिए उन्होंने डांट लगाई साथ ही स्टाफ को कोर्ट रूम में बुलाकर काम, नियम से, बिना किसी को परेशान किए ठीक से काम करने की हिदायत दी। इसके बाद बाबू की उसी रात मौत हो गई। नायब तहसीलदार के अनुसार इसे जबरन प्रताड़ना से हुई मौत बताया जा रहा है।

अतिरिक्त तहसीलदार पर सूर्यवंशी समाज ने एफआईआर की मांग की थी
अतिरक्त तहसीलदार पर आरोप है कि उन्होंने बाबू भरत लाल सूर्यवंशी को अपने चेंबर में बुलाकर किसी काम को नहीं करने के लिए दबाव बनाते हुए जमकर फटकार लगाई थी, जो बर्दाश्त नहीं हुआ और भरतलाल कार्यालय में हताश होकर बैठ गए। यही नहीं कुछ देर बाद रोने भी लगे। साथी कर्मचारियों ने उसे घर भेजा था। रात 11 बजे हार्टअटैक से उनकी मौत हो गई थी। इस मामले को लेकर सूर्यवंशी समाज के लिए लोगों ने रविवार को जमकर हंगामा कर अतिरिक्त तहसीलदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी।

खबरें और भी हैं...