पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना से जंग:नाई, सब्जी, पान-ठेला सहित अब संदेह के आधार पर किसी की भी हो सकती है कोरोना जांच

बिलासपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएमएचओ ऑफिस में कोरोना जांच की गई। - Dainik Bhaskar
सीएमएचओ ऑफिस में कोरोना जांच की गई।
  • आरटीपीसीआर सैंपल की संख्या बढ़ाने शासन ने स्वास्थ्य विभाग को दिए निर्देश, रैंडम सैंपलिंग शुरू, 53 नाई दुकान चलाने वालों का लिया गया सैंपल

जिले में लगातार संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। संक्रमण से निपटने स्वास्थ्य विभाग अब सार्वजनिक स्थानों पर पहुंच कर रैंडम सैंपलिंग करेगा। (रैंडम का मतलब) रास्ते में चलने वाले, पान ठेला, सब्जी, मोबाइल और नाई की दुकान सहित भीड़-भाड़ वाली जगह पर खड़े लोगों में से किसी पर संदेह कर उसकी सैंपलिंग कर सकते हैं। संदेही व्यक्ति को अचानक चयनित कर उसके स्वाब का सैंपल लिया जाएगा, ताकि संक्रमण जिले में किस स्तर तक फैला है, इसका पता लगाया जा सके। मंगलवार से रैंडम सेंपलिंग हो चुकी है। पहले दिन पहले दिन नाई दुकान संचालन और काम करने वाले 53 लोगों ने स्वास्थ्य विभाग पहुंचकर अपनी कोरोना जांच कराई है। सीएमएचओ दफ्तर में सभी की आरटी-पीसीआर जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि नाई दुकान में हर तरह के लोगों का आना-जाना रहता है। दुकान संचालक एक ही कपड़ा, समान कई लोगों की हजामत करने के लिए उपयोग में लाते हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी की जाएगी कोरोना जांच
जिला सर्विलेंस अधिकारी डॉ. एसके लाल ने बताया कि रैंडम सैंपलिंग के तहत शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में सब्जी बेचने वाले व्यवसायी और प्रत्येक पान दुकान चलाने वाले लोगों की भी कोरोना जांच की जाएगी। ऐसा करके हम पॉजिटिव का पता लगाने में सफल होंगे और संक्रमण को रोकने के प्रयास भी तेजी से कर पाएंगे। 

अब एंटीजन किट से करेंगे कोरोना की जांच, 30 मिनट में रिपोर्ट
बढ़ते संक्रमण के बीच सुविधाएं और सहूलियत भी बढ़ाई जा रही हैं। अब जिले में एंटीजन किट से कोरोना की जांच की जाएगी। इस टेस्ट को हॉट-स्पॉट और  कंटेनमेंट जोन जोन में घर-घर जाकर किया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी कर ली है। एंटीजन किट से जांच करने के लिए भी संदिग्ध के मुंह और नाक का स्वाब का सैंपल किट पर डाला जाएगा। लगभग 15 से तीस मिनट के अंदर किट रिपोर्ट दे देगी। पॉजिटिव आने पर मरीज को भर्ती कराया जाएगा। अगर रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उसका दोबारा आरटी-पीसीआर परीक्षण किया जाएगा। इससे कम समय में अधिक लोगों की जांच की जा सकेगी। स्वास्थ्य विभाग एंटीजन टेस्ट कोरोना के संदिग्ध मरीजों का करेगा।

अधिकतम 30 डिग्री तापमान में काम करती है एंटीजन टेस्ट किट: एंटीजन टेस्ट से यह पता चलता है कि व्यक्ति वायरस से संक्रमित है या नहीं। इसका फायदा यह है कि इसमें तुरंत परिणाम मिल जाते हैं। इस टेस्ट में सैंपल लेने के तुरंत बाद ही टेस्ट किया जाता है। इसके लिए संबंधित एरिया में जाकर टेस्ट करना होता है। एंटीजन टेस्ट किट को न्यूनतम दो डिग्री और अधिकतम 30 डिग्री तापमान में रखना होता है।

बैठक में लिया गया फैसला 
सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव ने जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक ली थी। बैठक में उन्होंने कहा था कि जांच की संख्या को बढ़ाएं ऐसे में अब सार्वजनिक स्थानों और सैकड़ों की भीड़ में रहने वाले लोगों में अचानक किसी पर संदेह करके उसे रोककर कोरोना जांच के लिए उसका सैंपल ले सकते हैं। इससे संक्रमण के फैलाव के बारे में पता चल पाएगा और उसको नियंत्रण करने के लिए आगे रूप रेखा तैयार की जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें