पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महिला झाड़ियों में बिना कपड़े के मिली:बोली-गैंगरेप हुआ, पीटा और मरा समझकर फेंक गए; महिला सिम्स में भर्ती, सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस

बिलासपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तोरवा की घटना

तोरवा थाना क्षेत्र में 54 साल की अधेड़ बिना कपड़े के अर्धबेहोशी की हालत में झाड़ियों में मिली। कहा उसके साथ पांच लोगों ने दुष्कर्म किया और पीटा। मरा समझकर उसे झाड़ियों में फेंक गए। पुलिस ने उसे सिम्स में भर्ती कराया है। डॉक्टरों ने मुलाहिजा किया पर दुष्कर्म की पुष्टि नहीं की। पुलिस का कहना है कि महिला के बयान की जांच होगी।

इलाके के सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। देवरीखुर्द के दाल मिल के पास रविवार की सुबह बिना कपड़े के पड़ी मिली। वह कराह रही थी। कुछ लोगों की उसपर नजर पड़ी तो उन्होंने 112 को फोन किया। महिला की रक्षा टीम वहां पहुंची और उसे कपड़े पहनाई और अस्पताल लेकर गई। महिला ने इस दौरान रक्षा टीम के सदस्यों को बताया कि वह रात 9 बजे पैदल देवरीखुर्द की ओर जा रही थी। रास्ते में पांच लोग मिले और उसे साइकिल पर बिठाकर सुनसान पड़े दाल मिल की ओर ले गए। यहां उसके साथ दुष्कर्म किया।

जब हालत गंभीर हो गई तो उसे अधमरा होने तक पीटा और मरा समझकर दाल मिल के पास झाड़ियों के बीच पानी पर फेंककर भाग निकले। अभी तक उसका बयान दर्ज नहीं हो सका है। मुलाहिजा रिपोर्ट में गलत काम की पुष्टि नहीं हुई है। तोरवा टीआई सुखनंदन पटेल ने कहा कि महिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह अभी उल जलूल बातें कर रही है। उन्होंने कहा कि शायद गिरने की वजह से उसे चोंट आई होगी।

हम लोग पहुंचे तो बिना कपड़े के पड़ी थी
रक्षा टीम की एक सदस्य ने नाम नहीं छापने के शर्त पर बताया- जब हमारी टीम मौके पर पहुंची तो महिला के शरीर पर एक भी कपड़े नहीं थे। पानी के पास वह घांस में कराहते हुए पड़ी थी, वहां हम लोग नहीं जा पा रहे थे। पास में 8 फीट का दीवाल था। देखने से लग रहा था कोई उसे दीवाल की दूसरी ओर फेंककर चले गए हैं। उसकी हालत देखकर लग रहा था कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है। उसके शरीर पर चोंट भी काफी थे। जिस समय उठाकर एंबुलेंस में ले जा रहे थे तो बताया उसके साथ पांच लोगों ने रातभर गलत काम किया,उसे मारा पीटा फिर पानी में फेंककर चले गए। शायद रातभर पानी में पड़े होने के कारण उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। हम लोग उसे स्ट्रेचर से लादकर ले गए। यह भी कहा कि वह कूड़ा करकट बेंचकर जीवन यापन करती है। उसके परिजन नहीं है। उसके शरीर पर एक भी पकड़ा नहीं था। हम लोगों ने कपड़ा डाला।

जिस अवस्था में मिली,नजर अंदाज नहीं किया जा सकता-एसपी
एसपी दीपक झा ने बताया कि महिला बेहोशी की हालत में मिली थी। उसके शरीर पर कपड़े नहीं थे। रक्षा टीम ने उसे अस्पताल में एडमिट कराया। होश में तो आ गई है पर कुछ भी बताने मानसिक रूप से अभी सक्षम नहीं है। हम उससे बातचीत करने का प्रयास कर रहे हैं। उसका मेडिकल कराया पर रिपोर्ट में डॉक्टरों ने दुष्कर्म होने जैसी किसी भी बात से इनकार किया है। चूंकि वह जिस अवस्था में मिली है उसे नजरअंदाज भी नहीं किया जा सकता। इसलिए आसपास के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखा जा रहा है। महिला का बयान भी अहम होगा।

एमएलसी में नहीं आया,जांच चल रही-एएसपी
एएसपी उमेश कश्यप का कहना है कि महिला का एलएलसी हुआ है। डॉक्टरों ने उसके साथ किसी तरह की गलत काम होने की पुष्टि नहीं की है। वह मानसिक रूप से अस्वस्थ्य है इसलिए अलग-अलग बयान दे रही है। रक्षा टीम ने जरूर बताया कि महिला टीम के सदस्यों ने बताया कि वह शोर मचा रही थी और कह रही थी उसके साथ गलत हुआ है।

खबरें और भी हैं...