लॉकडाउन में नियम तोड़ने वालों को राहत:पहले चरण में महामारी एक्ट में दर्ज 262 केस खत्म होंगे, लेकिन गंभीर अपराधों में राहत नहीं; बिलासपुर जिला स्तरीय समिति का फैसला

बिलासपुर10 महीने पहले

लॉकडाउन के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल तोड़ने वालों के लिए राहत की खबर है। बिलासपुर प्रशासन ने महामारी एक्ट में दर्ज FIR निरस्त करने का फैसला किया है। पहले चरण में 262 केस निरस्त किए जाएंगे। हालांकि, गंभीर मामलों में प्रशासन ने कोई राहत नहीं दी है। इसको लेकर कलेक्टर, एसपी और महाभियोजन अधिकारी वाली तीन सदस्यीय जिला समिति ने निर्णय लिया है। बिलासपुर एसपी दीपक झा के अनुसार आने वाले समय में कमेटी द्वारा समीक्षा के बाद और भी मामलों को खत्म किया जाएगा।

बिलासपुर एसपी दीपक झा।
बिलासपुर एसपी दीपक झा।

छत्तीसगढ़ सरकार के निर्देश के बाद महामारी एक्ट में दर्ज मामलों को वापस लिया जा रहा है। इसकी शुरुआत बिलासपुर से हो गई है। इनमें ऐसे ही केस शामिल हैं, जो साधारण अपराधों से जुड़े हैं। जैसे बाइक पर तीन सवारी या फिर पैदल निकले लोगों पर दर्ज मामले। हालांकि गंभीर मामलों में कोई राहत नहीं दी गई है। इसमें पुलिस या कोरोना वॉरियर्स से अभद्रता शामिल है। इसके अलावा तस्करी या अवैध रूप से व्यापार करते पकड़ गए आरोपियों को कोई राहत नहीं दी जाएगी।

लॉकडाउन के वक्त तारबहार थाना टी.आई कलीम खान सड़क पर घूमने वाले लोगों की आरती उतार कर समझाते हुए।
लॉकडाउन के वक्त तारबहार थाना टी.आई कलीम खान सड़क पर घूमने वाले लोगों की आरती उतार कर समझाते हुए।

पुलिस ने आरती उतारी, फूल दिए, लोग तब भी नहीं समझे थे
कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान छत्तीसगढ़ देश के उन चुनिंदा राज्यों में शामिल था, जहां सबसे अधिक मामले सामने आए थे। ऐसे में लॉकडाउन के दौरान घरों से बाहर निकल रहे लोगों को पुलिस कभी आरती उतार कर या कभी फूल देकर समझा रही। इसके बाद भी ऐसे तमाम लोग थे नहीं माने। ऐसे में पुलिस ने उनके खिलाफ महामारी एक्ट में मामला दर्ज कर जेल भेजना शुरू कर दिया था। एसपी दीपक झा ने बताया कि समीक्षा के बाद अभी फिलहाल 262 खत्म करने की अनुशंसा जिला जिला स्तरीय कमेटी ने की है।

जिले में अब बच्चे भी संक्रमण की चपेट में
जिले में रविवार को कोरोना संक्रमण के 6 नए मामले सामने आए हैं। चिंता की बात यह है कि संक्रमित मरीजों में 3 बच्चे भी शामिल हैं। इनमें एक की उम्र 5 साल तो अन्य दो बच्चे 7 और 11 साल के हैं । इसके बाद जिले में संक्रमित मरीलों की संख्या 64788 पर पहुंच गई है। वहीं मौत का आंकड़ा भी 1335 हो गया है। हालांकि जिले में अब 99 एक्टिव केस हैं। वहीं रिकवरी रेट 99.4 फीसदी से ऊपर दर्ज पहुंच गया है।

खबरें और भी हैं...