कोरोना से नहीं, डर से हार रही जिंदगी:बिलासपुर में संक्रमित महिला ने घर के टॉयलेट में फंदा लगाकर जान दी; 6 दिन पहले तबीयत हुई थी खराब, रिपोर्ट आने के बाद से डरी हुई थी

बिलासपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला बीमारी से परेशान थी। रिपोर्ट आने के बाद से ही वह काफी डरी हुई थी। - Dainik Bhaskar
महिला बीमारी से परेशान थी। रिपोर्ट आने के बाद से ही वह काफी डरी हुई थी।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में एक महिला ने फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। उसका शव शनिवार सुबह घर की बाड़ी में बने टॉयलेट में लटका मिला। महिला कोरोना संक्रमित थी। बताया जा रहा है कि महिला बीमारी से परेशान थी। रिपोर्ट आने के बाद से ही वह काफी डरी हुई थी। फिलहाल सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। मामले की जांच की जा रही है। घटना तखतपुर थाना क्षेत्र की है।

जानकारी के मुताबिक, ग्राम चोरमा निवासी मणीशंकर कश्यप रोजी-मजदूरी करता है। उसकी पत्नी रानी कश्यप (40) की तबीयत करीब 6 दिन से खराब चल रही थी। इस दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर को दिखाने गई। वहां उसकी कोरोना जांच की गई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद स्वास्थ्यकर्मियों ने दवाइयां देने के साथ ही घर में ही रहने की सलाह भी दी। इसके बाद से ही रानी होम आइसोलेशन में थी और पति, बेटा व बेटी दूर रहने लगे थे।

सुबह मां को नहीं देख बेटा ढूंढने निकला तो घटना का पता चला
बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह जब रानी कमरे में नहीं दिखाई दी तो उसका बेटा सुनील ढूंढने लगा। इस दौरान घर की बाड़ी में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय में उसका शव लटका दिखा। रानी ने छप्पर में गमछे से फंदा लगाकर सुसाइड किया था। सुनील ने इसकी जानकारी अपने पिता को दी। थोड़ी देर बाद खबर गांव में फैल गई। बताया जा रहा है कि बीमारी के बाद से ही वह मानसिक रूप से विचलित थी।

खबरें और भी हैं...