महामारी में महापाप:​​​​​​​बिलासपुर में रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते पकड़ा गया व्यापारी, 20 हजार में कर रहा था सौदा; बोला- पिता के लिए खरीदा, बच गया तो बेच रहा था

​​​​​​​बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में एक युवक को पुलिस ने बुधवार दोपहर रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते हुए पकड़ा है। उसके पास से 4 इंजेक्शन बरामद हुए हैं। पकड़ा गया आरोपी इलेक्ट्रॉनिक्स सामान बेचने का काम करता है। पुलिस ने पकड़ा तो उसने इंजेक्शन पिता के लिए खरीदने की बात बताई और कहा कि बच गया तो वह बेच रहा था। फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ करने के साथ बयान की जांच कर रही है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, सिविल लाइन थाना प्रभारी सुरेंद्र स्वर्णकार को सूचना मिली कि एक युवक रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहा है। इस पर उन्होंने जानकारी जुटाई और फिर फेक ग्राहक बनाकर इंजेक्शन खरीदने के लिए सौदा तय किया। आरोपी युवक ने एक इंजेक्शन को 20 हजार रुपए में बेचने की बात कही। सौदा तय होने पर पुलिस ने उसे अग्रसेन चौक बुलाया और पकड़ लिया। तलाशी के दौरान उससे 4 इंजेक्शन बरामद हुए हैं।

पूछताछ में कहा- एक लाख में पिता के लिए खरीदा था, बचने पर बेच रहा

पूछताछ में पता चला कि आरोपी हिमांशु बुधिया पेशे से व्यापारी है और उसकी कोतवाली थाने के सामने बालाजी इलेक्ट्रॉनिक्स के नाम से बिजली की दुकान है। पुलिस को आरोपी ने बताया कि उसके पिता कोरोना संक्रमित थे। उन्हें महादेव अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस दौरान रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत पड़ी थी। तब उसने 5 इंजेक्शन 1.06 लाख रुपए में खरीदा था। उन्हें एक लगा और बाकी 4 बच गए तो उन्हें ही बेच रहा था।

पुलिस को उसकी बातों में संदेह, तस्दीक के बाद मामला स्पष्ट होगा

फिलहाल पुलिस को आरोपी की बातों पर संदेह है। वह मामले की तस्दीक कर रही है। इंजेक्शन सप्लायर को लेकर भी जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस यह भी पता लगा रही है कि आरोपी के पिता महादेव अस्पताल में भर्ती थे भी या नहीं। अगर थे तो क्या उन्हें रेमडेसिविर इंजेक्शन लगा था और कितने मंगाए गए थे। इस संबंध में औषधि विभाग को भी जानकारी दी गई है। बैच नंबर के आधार पर उसकी सप्लाई की जानकारी मांगी जाएगी।

आरोपी से पूछताछ की जा रही है। उसने बताया कि परिचित युवक से इंजेक्शन खरीदा था, लेकिन उसके बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे रहा है। हम सप्लायर की तलाश कर रहे हैं।
- सुरेंद्र स्वर्णकार, थाना प्रभारी, सिविल लाइन, बिलासपुर

खबरें और भी हैं...