टीके का सिस्टम फेल:​​​​​​​बिलासपुर में जो पहले पहुंचा उसे लगा दी वैक्सीन, रजिस्ट्रेशन कराने वाले फिर बैरंग लौटे; सेंटर पर जमकर हंगामा

​​​​​​​बिलासपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार ने कहा था, CG Teeka पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करवाने वालों को ही वैक्सीन की डोज लगाई जाएगी। बता दिया जाएगा कि टीका किस तारीख को और किस सेंटर में लगाया जाएगा। - Dainik Bhaskar
सरकार ने कहा था, CG Teeka पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करवाने वालों को ही वैक्सीन की डोज लगाई जाएगी। बता दिया जाएगा कि टीका किस तारीख को और किस सेंटर में लगाया जाएगा।

छत्तीसगढ़ में प्रशासनिक सिस्टम ही सरकार के सिस्टम को फेल करने में लगा है। एक ओर सरकार 18 + टीकाकरण के लिए 'CG Teeka' पर रजिस्ट्रेशन कराने की बात कह रही है। वहीं वैक्सीनेशन सेंटर अभी भी पहले आओ, पहले पाओ की नीति पर चल रहे हैं। इसको लेकर सोमवार सुबह बिलासपुर के एक वैक्सीनेशन सेंटर पर जमकर हंगामा हो गया। सेंटर में पहले पहुंचे लोगों को टोकन बांट दिया गया। जब पंजीकरण कराने वाले लोग पहुंचे तो पता चला की वैक्सीन ही खत्म हो गई है।

जानकारी के मुताबिक, हेमू नगर में शंकर नगर स्थित शासकीय उच्च माध्यमिक शाला में वैक्सीनेशन सेंटर बनाया गया है। यहां सुबह 6 बजे से ही वैक्सीन लगवाने वालों की लाइन लगी थी। इस बीच सुबह करीब 9 बजे क्षेत्र के वे लोग भी पहुंचने लगे, जिन्होंने सरकारी पोर्टल पर वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। इनमें बड़ी संख्या BPL और APL परिवारों की थी। दो घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद जब नंबर आया तो पता चला कि डोज खत्म हो गई है। इसके बाद हंगामा शुरू हो गया।

एक दिन पहले भी लौटाए गए थे पंजीकरण कराने वाले
दरअसल, शंकर नगर क्षेत्र के लोग पंजीकरण कराने के बाद रविवार को भी टीका लगवाने पहुंचे थे। इस बीच पोर्टल में खराबी और डोज खत्म होने की बात कहकर उन्हें लौटा दिया गया। शासन की ओर से व्यवस्थाएं दुरुस्त होने की बात कही गई तो अगले दिन फिर लोग सुबह वैक्सीनेशन के लिए सेंटर पर पहुंच गए। यह करीब 200 लोग थे, लेकिन जब नंबर आया तो पता चला कि 100 को ही वैक्सीन लग सकी। बाकी के लिए खत्म हो गई थी। गेट बंद होते ही लोग भड़क गए। हालांकि बाद में खुद ही लौट पड़े।

कर्मचारी बोले- जो पहले आया, उसे पहले टोकन दिया
सेंटर को वैक्सीन के 200 डोज मिले थे। कर्मचारियों का कहना है कि सुबह 6 बजे से ही लोगों की लाइन लगी हुई थी। जो पहले आया, उसे पहले टोकन दे दिया गया। ऐसा करते हुए करीब 100 लोगों को टोकन बांटा गया। पंजीकरण कराने वाले 100 लोगों को भी वैक्सीन लगाई गई है। इसकी जानकारी नहीं है कि सिर्फ रजिस्ट्रेशन कराने वालों को ही वैक्सीन दी जानी है। हम भी क्या कर सकते हैं, जितनी मिल रही है, उतनी ही डोज तो लोगों को लग सकेगी।

सरकार ने कहा है- रजिस्ट्रेशन कराने वालों को ही लगेगी वैक्सीन
18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए राज्य सरकार ने अलग से पोर्टल बनाया है। यह केंद्र सरकार के Cowin portal से अलग है। यह ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का सिस्टम है। तय हुआ था CG Teeka पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करवाने वालों को ही वैक्सीन की डोज लगाई जाएगी। रजिस्ट्रेशन के तुरंत बाद ही बता दिया जाएगा कि उन्हें टीका किस तारीख को और किस सेंटर में लगाया जाएगा। उसके बाद लोग निर्धारित तारीख को सेंटर में जाकर टीका लगवा सकेंगे।

खबरें और भी हैं...