जारी है कोरोना से लड़ाई की कोशिशें:​​​​​​​बिलासपुर के लखनी देवी मंदिर में 10 दिन में बनाया गया 30 बेड का कोविड अस्पताल, 2 दिन में होगा शुरू; सीवी रमन यूनिवर्सिटी में 20 बेड का निर्माणाधीन

​​​​​​​बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर डा. सारांश मित्तर ने कहा कि न्यूनतम समय में कोरोना मरीजों के लिए अधिक से अधिक आक्सीजन वाले बेड उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। - Dainik Bhaskar
कलेक्टर डा. सारांश मित्तर ने कहा कि न्यूनतम समय में कोरोना मरीजों के लिए अधिक से अधिक आक्सीजन वाले बेड उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। सरकार और प्रशासन की इससे लड़ाई को लेकर तमाम कोशिशें भी जारी हैं। ऐसे में बिलासपुर का प्रख्यात महालक्ष्मी लखनीदेवी मंदिर भी आगे आया है। मंदिर परिसर में प्रशासन के सहयोग से 10 दिन में 30 बेड के कोविड अस्पताल का निर्माण किया गया है। यह सेंटर 2 दिन में काम करना शुरू कर देगा। वहीं, डॉ. सीवी रमन यूनिवर्सिटी में 20 बेड का अस्पताल निर्माणाधीन है।

सभी बेड ऑक्सीजन सपोर्ट के साथ, 10 आक्सीजन कंसट्रेटर भी
रतनपुर स्थित लखनी देवी मंदिर परिसर में बनाए गए कोविड केयर सेंटर में सभी 30 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट के साथ हैं। इसके अलावा यहां 10 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन की व्यवस्था की गई है। देवी मां महालक्ष्मी का यह प्राचीन मंदिर लाखों भक्तों के आस्था का केंद्र है। लखनी देवी शब्द लक्ष्मी का ही अपभ्रंश है। इस मंदिर का निर्माण कल्चुरी राजा देव तृतीय के राज्य की खुशहाली के लिए उनके प्रधानमंत्री गंगाधर ने साल 1179 में कराया था।

यूनिवर्सिटी परिसर में 20 बेड का अस्पताल, 10 में ऑक्सीजन सपोर्ट
वहीं कोटा स्थित सीवी रमन यूनिवर्सिटी परिसर में 20 बेड के कोविड केयर सेंटर का निर्माण कराया जा रहा है। इसमें भी 10 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट वाले होंगे। कलेक्टर डा. सारांश मित्तर ने शुक्रवार को दोनों कोविड केयर सेंटर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने जल्द ही सारे काम खत्म करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि न्यूनतम समय में कोरोना मरीजों के लिए अधिक से अधिक आक्सीजन वाले बेड उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है।

जिले में संक्रमित कम हुए, पर मौत का आंकड़ा अभी भी ज्यादा
कोरोना काल में शुक्रवार का दिन राहत भरा रहा। लगातार दूसरे दिन कोरोना के मरीज 1 हजार से कम मिले। गुरुवार को जहां 803 संक्रमित मिले थे तो शुक्रवार को यह संख्या और कम हुई तथा संक्रमित मरीज 605 ही मिले । डिस्चार्ज होने वाले मरीजों का आंकड़ा भी सुखद रहा तथा 1417 मरीज ठीक होकर अपने घर गए। लेकिन मौतों का ग्राफ ज्यादा नीचे नहीं जा रहा। विभिन्न कोविड अस्पताल व सेंटर में भर्ती 44 मरीजों ने दम तोड़ दिया।

खबरें और भी हैं...