पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह बोले:छत्तीसगढ़ सरकार हर मोर्चे पर विफल, महिलाओं से रेडी टू ईट का काम छीनकर ठेकेदारों को देने का षड़यंत्र

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह ने आरोप लगाया कि 40 हजार करोड़ के कर्ज में डूबी छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार वित्तीय प्रबंधन में पूरी तरह फेल हो गई है। पूरी अर्थव्यवस्था बैठ गई है। सरकार कुछ नहीं कर पा रही है। केंद्र की प्रधानमंत्री आवास के क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकारों द्वारा मैचिंग ग्रांट का प्रावधान बजट में या फिर अनुपूरक बजट में किया जाता है, परंतु छत्तीसगढ़ सरकार ने 40 फीसदी मैचिंग ग्रांट की राशि जमा नहीं कर गरीबों के साथ अन्याय किया है।

छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सिंह ने बताया कि 7.60 लाख पीएम आवास की स्वीकृति केंद्र सरकार ने राज्य से मैचिंग ग्रांट नहीं मिलने के कारण निरस्त कर दी है। जिससे केंद्र से मिलने वाले 11800 करोड़ के अनुदान से राज्य सरकार वंचित हो गई है। छत्तीसगढ़ सरकार के फेल्यूअर के कारण अगले साल भी उसे 7.60 लाख पीएम आवास की स्वीकृति नहीं मिलेगी। इसका बड़ा नुकसान 15 लाख 20 हजार गरीबों को होगा, जिन्हें पक्के मकान से वंचित होना पड़ रहा है।

उन्होंने आरोप लगाया कि गरीबों के साथ दूसरा बड़ा अन्याय राज्य सरकार ने ‘रेडी टू ईट’ योजना का ठेका 20 हजार स्वसहायता समूह की महिलाओं के हाथ से छीनकर बीज विकास निगम के माध्यम से हरियाणा के करोड़पति शराब ठेकेदार को देने का षड़यंत्र किया है। इससे बड़ी संख्या में महिलाओं का नुकसान हुआ है, जिन्हें 500 से 600 करोड़ के पोषण आहार तैयार करने का काम मिला हुआ था। अब वह बेरोजगार हो गई हैं। डा.सिंह ने चिंता जताई कि महिला मंत्री होते हुए भी इतना असंवेदनशील निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि 3 साल आते आते राज्य सरकार सभी मोर्चे पर विफल रही है और उसके चेहरे से नकाब उतरने लगा है।

प्रधानमंत्री ने क्या बारदाने की दुकान खोल रखी है...
डा.सिंह ने कहा कि वह 15 साल मुख्यमंत्री रहे पर किसी साल बारदाने की कमी नहीं हुई। राज्य सरकार बारदाना तक खरीद नहीं पा रही है। किसानों से कहा जा रहा है कि उन्हें बारदाना लाने पर 14 रुपए मिलेगा, जिसकी बाजार में 40 रुपए कीमत है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रबंधन में फेल राज्य सरकार हर बात पर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री पर दोषारोपण करती है। बारदाने की सप्लाई जूट मिल से होती है, पर वह आरोप प्रधानमंत्री पर लगाते हैं जैसे प्रधानमंत्री ने बारदाने की कोई दुकान खोल रखी हो।

साय के मुद्दे पर बोले-राष्ट्रीय अध्यक्ष से पूछें...
नंदकुमार साय के कथित बयान पर कि 15 वर्षों में उन्हें भाजपा नेताओं ने मुख्यमंत्री बनने नहीं दिया? डा.सिंह ने कहा इस बारे में उस समय के राष्ट्रीय अध्यक्ष से पूछा जाना चाहिए। इसका जवाब डाॅ.रमन के पास नहीं है।

निकाय चुनाव में जनता सबक सिखाएगी
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जन घोषणा पत्र में जो वायदे किए थे, उसे 3 साल में पूरा नहीं किए। 15 निकायों के चुनाव में जनता सरकार को करारा सबक सिखाएगी।

खबरें और भी हैं...