नवनियुक्त कलेक्टर ने किया निरीक्षण:कलेक्टर ने मातृ-शिशु अस्पताल सहित कोविड और अन्य वार्ड का लिया जायजा, व्यवस्था सुधारने कहा

बिलासपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. प्रमोद महाजन और डॉ. अनिल श्रीवास्तव कलेक्टर को व्यवस्था के मुताबिक  जानकारी देते रहे। - Dainik Bhaskar
डॉ. प्रमोद महाजन और डॉ. अनिल श्रीवास्तव कलेक्टर को व्यवस्था के मुताबिक  जानकारी देते रहे।

जिला अस्पताल में फैली अव्यवस्था के चलते सोमवार को नवनियुक्त कलेक्टर ने यहां के वार्डों का जायजा लिया। मातृ-शिशु अस्पताल में पहुंचकर मरीजों से बात की और यहां अधूरे काम को जल्द पूरा करवाने के निर्देश दिए गए हैं। मौके पर लोक निर्माण विभाग के अधिकारी मौजूद थे, जिन्हें अस्पताल में रोके गए निर्माण काम को बढ़ाने की बात कही गई। इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों से बात की। मौके पर दोनों ही सीएमएचओ के अलावा जिला अस्पताल का स्टाफ मौजूद रहा।

जिला अस्पताल के पहले माले पर बच्चों के लिए तैयार होने वाले 42 बेड के नए वार्ड का काम फिलहाल रोक दिया गया है। ठेके का विवाद इसकी मूल समस्या बनकर सामने आया है। शासन ने पीडब्ल्यूडी को इसके लिए 30 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी है, जिसके बाद उन्होंने टेंडर भी जारी कर दिया है। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने यह कहकर काम रोक दिया है कि इसे सीजीएमएसी से कराएंगे।

यही कारण है कि यहां का विकास रुक गया है और बच्चों को दो साल पहले मिलने वाली सुविधाएं नहीं मिली है। कलेक्टर ने इस काम को आगे बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा मातृ शिशु अस्पताल में भी डॉक्टरों के काम नहीं करने की शिकायतें मिली हैं।

दोनों की सीएमएचओ रहे मौजूद

कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान जिले के दोनों सीएमएचओ मौजूद रहे। डॉ. प्रमोद महाजन और डॉ. अनिल श्रीवास्तव कलेक्टर को व्यवस्था के मुताबिक जानकारी देते रहे। उनके अलावा सिविल सर्जन डॉ. अनिल गुप्ता से भी रुके काम के संदर्भ में कलेक्टर ने पूछताछ की। उन्होंने भी कलेक्टर को सफाई दी। वार्डों की सफाई व्यवस्था और कोविड वार्ड को लेकर भी कलेक्टर ने प्रबंधन को बेहतर व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...