बिलासपुर में एक दिन में 40 बच्चों समेत 369 संक्रमित:अपोलो अस्पताल में 31 डॉक्टर-कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव, 237 दिन बाद आंकड़ा पहुंचा 350 के पार

बिलासपुर6 महीने पहले

बिलासपुर में कोरोना बेलगाम हो गया है। शासकीय व निजी ऑफिस के साथ ही अब कोरोना वायरस अस्पताल में भी पहुंच गया है। इससे अस्पताल स्टॉफ के साथ ही मरीज भी सकते में आ गए हैं। शनिवार को अपोलो अस्पताल में कोरोना ने एक साथ 31 लोगों को चपेट में लिया। इधर, 24 घंटे के भीतर 369 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड का असर अब बच्चों में देखने को मिल रहा है। एक ही दिन में जहां 40 बच्चे कोरोना की चपेट में आए हैं। वहीं, संक्रमित बच्चों की संख्या 100 के करीब हो गई है।

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार डेढ़ से दो गुना दर से बढ़ने लगी है। स्थिति यह है कि कोरोना से नियंत्रण स्वास्थ्य विभाग से बाहर हो गया है। इससे सर्वाधिक चिंता अब बच्चों की होने लगी है। क्योंकि, अभी 15 साल से ऊपर के बच्चों को वैक्सीन लग रहा है। इससे कम उम्र के बच्चों को संक्रमण से बचाना चुनौती है। कोरोना संक्रमितों के आंकड़े बता रहे हैं कि रोज नवजात शिशु से लेकर 17 साल के बच्चे संक्रमण के शिकार हो रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि कोरोना वायरस का यह वैरिएंट खतरनाक रूप लेकर आया है। पहली व दूसरी लहर में कोरोना वायरस बच्चों की पहुंच से दूर था। लेकिन, यह वैरिएंट बच्चों को चपेट में ले रहा है। यही वजह है कि परिवार के एक सदस्य के संक्रमित होने पर सभी सदस्य इसके संक्रमण का शिकार हो रहे हैं। इनमें बच्चे भी शामिल हैं।

लगातार संक्रमित बच्चों की संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने चिल्ड्रन वार्ड को कोरोना वार्ड बनाया है और उपचार की तैयारी भी शुरू कर दी है। CMHO डॉ. प्रमोद महाजन ने बताया कि कंट्रोल रूम व निगरानी टीम को बच्चों के स्वास्थ्य पर ध्यान देने कहा गया है और संक्रमित बच्चों के परिजनों से सतत संपर्क बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं।

जनवरी में ही 1700 एक्टिव केस
हालात चिंताजनक इसलिए भी है क्योंकि कोरोना के दूसरी लहर में मार्च, अप्रैल व मई में ज्यादा संक्रमित मिलने लगे थे। हालांकि, तब मरीजों की स्थिति ज्यादा गंभीर थी। इस बार तीसरी लहर में जनवरी में ही कोरोना का आंकड़ा भयभीत करने लगा है। जिले में 237 दिन बाद कोरोना का आंकड़ा 350 के पार हो गया है। बताया जा रहा है कि आखिरी बार 15 मई को 373 संक्रमित पाए गए थे। तब कोरोना की दूसरी लहर कम होने लगी थी। नए मरीजों की पहचान होने के बाद जनवरी में ही 1700 से एक्टिव केस हो गए हैं। वहीं कुल संक्रमितों की संख्या 67 हजार 18 पर पहुंच गई है।

शहर के सभी इलाके हुए संवेदनशील
हाईकोर्ट, रेलवे, जिला प्रशासन, शिक्षा विभाग, RPF, अस्पताल, पुलिस सहित अधिकांश सरकारी दफ्तरों के कर्मचारी और अधिकारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके साथ ही अशोक विहार चांटीडीह, सरहद पारा, कृष्णा कुंज विद्या नगर, अपोलो हॉस्पिटल, नेचर सिटी उसलापुर, शांति नगर तिफरा, राजकिशोर नगर, यदुनंदन नगर, राजीव विहार, बंगाली पारा, दयालबंद, दुर्गा नगर लिंगयाडीह, सदर बाजार, दीनदयाल कॉलोनी, अमन विहार, रामा वेली, चकरभाठा, देवरीखुर्द, जेल लाईन, गीतांजली विहार, तखतपुर, लोधीपारा, मंदिर चौक, मिनी बस्ती, वसंत विहार, मुंगेली नाका, आईजी ऑफिस, रेलवे जोन, समृद्धि विहार कोनी, सांई भूमि तोरवा, रामा वर्ल्ड, तारबहार, भारतीय नगर, दर्रीघाट, सिरगिट्‌टी, शुभम विहार, मोपका, कतियापारा, जोरापारा, हर्षा , व्यापार विहार, वैशाली नगर, मंगला चौक, अंबा पार्क सहित अन्य जगह से संक्रमित मिले हैं।

अपोलो में 99 की कोरोना जांच की
अपोलो हॉस्पिटल में शनिवार को रैपिड एंटीजन और ट्रूनेट मिलाकर कुल 99 लोगों की जांच की गई। दोनों जांच में 31 लोग संक्रमित पाए गए। इनमें डॉक्टर और कर्मचारी के अलावा अन्य लोग शामिल हैं। अपोलो के स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित मिलने के बाद संपर्क में आने वाले अन्य लोगों की भी जांच कराई जाएगी।

11 हजार से अधिक को लगा टीका
टीकाकरण अधिकारी मनोज सेमुअल ने बताया कि शनिवार को 11 हजार 219 लोगों ने वैक्सीन लगवाई। 6682 ने दूसरा तो 4537 ने पहला डोज लगवाया। सबसे ज्यादा 18 प्लस वाले 5592 ने वैक्सीन लगवाई। 2076 ने पहला तो 3516 ने दूसरे डोज का इंजेक्शन लगवाया। 60 प्लस उम्र वाले 23 लोगों ने पहला और 142 ने दूसरा डोज लिया। 45 से 59 वर्ष वाले 228 ने पहला और 879 ने दूसरा डोज लगवाया। इसके साथ ही 15 से 17 वर्ष वाले 4355 टीनएजर्स ने पहला डोज लगवाया है।

CIMS के वायरोलॉजी लैब में कोरोना की एंट्री:4 स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव, एक सप्ताह से पेंडिंग हैं चार जिलों के 1700 सैंपल; स्टॉफ की भी कमी

हेमू नगर में 9 मरीज मिले
हेमू नगर नहर मोहल्ले में एक साथ 9 कोरोना मरीज मिले हैं। पूरे इलाके में हलचल मच गई। 51, 48, 23, 16, 81, 70, 20, 47 और 58 साल के मरीज के मिलने के बाद संपर्क में रहने वालों की तलाश शुरू हो गई है। अब उनकी भी जांच होगी।

विदेश से पांच यात्री लौटे, अब तक 353 आ गए
शनिवार को अलग-अलग देश से 5 यात्री शहर लौटे हैं। डीपरापारा निवासी एक व्यक्ति UAE, देवनंदन नगर निवासी महिला सिंगापुर से, चंदन आवास और टीकरापारा निवासी पुरुष काठमांडू और एक अन्य व्यक्ति भी विदेश से वापस आए हैं। इस प्रकार अब तक 353 लोग विदेश से लौट चुके हैं। सभी को क्वारेंटाइन किया गया है। विदेश से आने वाले आधे से ज्यादा लोगों ने क्वारैंटाइन पीरियड पूरा कर लिया है। शनिवार को सात दिन पहले विदेश से आए 4 लोगों की जांच भी की गई। जिनका रिपोर्ट नहीं आई है।

खबरें और भी हैं...