पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महंगाई की मार:कोरोना से बिगड़ा रसोई का बजट, घर से लेकर भोजनालयों तक में थाली हुई महंगी

बिलासपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्याज 60, आलू 50 रुपए किलो बिक रहा, बावजूद मुनाफाखोरी का एक भी मामला नहीं बना, आलू, प्याज, दाल, खाने के तेल महंगे होने से जेब हो रही ढीली

सुनील शर्मा | खाने-पीने की सामग्रियों की कीमतों में वृद्धि होने की वजह से घरों से लेकर भोजनालयों तक में भोजन की थाली महंगी हो गई है। 20 रुपए किलो मिलने वाला आलू 50 रुपए तो प्याज 60 रुपए किलो में बिक रहा। खाने का तेल, चायपत्ती, लहसुन, दाल, चावल सहित खाने-पीने की कई चीजों की कीमतें बढ़ गई हैं।
सब्जियों में आलू पूरक का काम करता है और उसकी कीमत पिछले कुछ माह से 40 से 50 रुपए किलो है। वहीं प्याज 10 रुपए कम होने के बावजूद 60 रुपए किलो में स्थिर है। अभी एक माह इनकी कीमतों पर कमी आने की संभावना नहीं है। आलू-प्याज के साथ ही अधिकांश खाने-पीने की सामग्रियों की कीमतों में उछाल है। मसलन लहसुन जो अधिकतम 120 रुपए किलो में मिलता था, वह 180 रुपए किलो में चिल्हर में मिल रहा है। अरहर दाल की कीमत पहले की तुलना में कम होने के बावजूद 110 रुपए में मिल रहा है। कोरोना संक्रमण शुरू होने के पहले यानी मार्च में इसकी कीमत 80 से 90 रुपए थी। अरहर दाल के साथ ही उड़द, मसूर, मटर दाल सभी कीमत पहले की तुलना में 10 से 15 रुपए प्रति किलो बढ़ गई है। चायपत्ती में प्रति पाव 10 से 15 रुपए की वृद्धि हुई है। ब्रांडेड कंपनियों की चायपत्ती की कीमत ज्यादा है। लो क्वालिटी की चायपत्ती की कीमत जरूर कम बढ़ी है। ब्रांडेड कंपनी का आटा पांच किलो वाला 175 रुपए में मिल रहा है। कोरोना के पहले यह 160 रुपए में मिल रहा था। चिल्हर विक्रेता थोक में ही अधिक कीमत होने की बात कह रहे हैं तो थोक विक्रेताओं का कहना है कि फसल खराब होने के साथ ही फसल में देर भी हो गई है। कारण जो हो पर भुगतना आम आदमी को पड़ रहा है। इसका असर हर वर्ग पर पड़ रहा है। इधर कोरोना संक्रमण के अंतर्गत लॉकडाउन में कई माह तक बंद भोजनालय अनलॉक में खुले पर वहां भोजन की थाली 10 से 15 रुपए तक महंगी हो गई है। टिफिन सेवा की भी यहीं स्थिति है। जो भोजन की थाली 60 रुपए में मिल जा रही थी, उसके अब 70 रुपए लिए जा रहे हैं।

सरसो तेल ने उड़ाए होश शक्कर से थोड़ी राहत
खाने का कोई भी तेल 100 रुपए लीटर से कम नहीं है जबकि पहले यह 85 से 90 रुपए तक में मिल जा रहा था। सरसो तेल थोक में ही 140 रुपए लीटर मिल रहा है। चिल्हर में 150 से 155 रुपए तक दुकानदार बेच रहे हैं। सरसो तेल खाने के साथ ही मालिश में भी उपयोगी है। खासतौर पर ठंड के दिनों में इसकी डिमांड और बढ़ जाती है। ठंड का मौसम शुरू होने से मांग बढ़ गई है। हालांकि शक्कर ने जरूर राहत दी है। यह 38 रुपए किलो में चिल्हर में बिक रहा है।

भजिया 10 से 15 रुपए में मिल रहा
कट चाय 5 रुपए में मिलती थी, वह अब 6 तो कहीं कहीं सात रुपए में मिल रही है। वहीं 5 रुपए में मिलने वाला सामान्य साइज का समोसा 7 रुपए प्रति नग में मिल रहा है। प्रति प्लेट भजिया 10 रुपए से बढ़ाकर 15 रुपए कर दिया गया है। हालांकि ऐसा हर ठेले, खोमचे व होटलों में नहीं है।

कालाबाजारी रोकने टीम बनाएंगे
"शासन के निर्देश पर आलू-प्याज की कीमतों पर नजर रखने के निर्देश खाद्य विभाग को दिए गए थे। अब कालाबाजारी की जांच कराने के लिए टीमों का गठन किया जाएगा।"
- डॉ.सारांश मित्तर, कलेक्टर बिलासपुर

नई फसल के बाद घटेगी कीमतें
व्यापार विहार व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष पवन वाधवानी ने बताया कि दशहरा में आलू और प्याज की नई फसल आ जाती थी लेकिन दिवाली गुजरने के बाद नहीं आई है। 15 दिसंबर तक नई फसल आएगी। इसके बाद आलू-प्याज की कीमत लगभग आधी हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें