बिलासपुर में नर्स ने फांसी लगाई:अस्पताल में मोबाइल पर बात करते हुए रो रही थी, घर जाकर कर लिया सुसाइड

बिलासपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिलासपुर में प्राइवेट अस्पताल में काम करने वाली नर्स ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। ड्यूटी के दौरान वह एक दिन पहले अपने मोबाइल से किसी से बात करते हुए रो रही थी और मानसिक तनाव में थी। ऐसे में पुलिस को शक है कि प्रेम प्रसंग के चलते नर्स ने यह आत्मघाती कदम उठाया होगा। पुलिस ने जांच के लिए उसके मोबाइल को जब्त किया है। मोबाइल की जांच से उसके आत्महत्या के कारणों का पता चल सकेगा। मामला सिविल लाइन थाने का है।

जानकारी के अनुसार कोटा थाना क्षेत्र के बड़े बरर निवासी ललिता ध्रुव (22) सकरी क्षेत्र के प्राइवेट हॉस्पिटल में नर्स थीं। वह मंगला स्थित बृजविहार कॉलोनी में किराए के मकान में रहती थी। रविवार शाम वह ड्यूटी से किराए के रूम में लौटी थी। इसके बाद उसके साथ काम करने वाली रूम पार्टनर ड्यूटी से वापस आई, तो दरवाजा अंदर से बंद था। इस पर उसने दरवाजा खुलवाने के लिए काफी देर तक आवाज दी। मोबाइल से भी कॉल किया, पर जवाब नहीं मिला।

पुलिस ने मोबाइल जब्त कर कमरे को किया सील
संदेह होने पर युवती ने आसपास के लोगों को इस घटना की जानकारी दी। इसके साथ ही ललिता के बड़े भाई नेपाल सिंह को भी बुलाया गया। उनकी मौजूदगी में कमरे का दरवाजा धक्का देकर खोला गया। अंदर कमरे में ललिता का शव फांसी के फंदे पर लटक रहा था। ललिता के भाई नेपाल सिंह ने की सूचना पर पुलिस पहुंच गई। सोमवार सुबह शव का पंचनामा कार्रवाई कर पुलिस ने कमरे को सील कर दिया। ललिता के मोबाइल को भी जब्त किया है।

एक दिन पहले फोन पर रो रही थी नर्स
TI परिवेश तिवारी ने बताया कि पुलिस की पूछताछ और जांच में पता चला है कि प्रेम प्रसंग के चलते युवती ने आत्महत्या की होगी। पूछताछ में पुलिस को जानकारी मिली है कि एक दिन पहले वह मोबाइल में किसी से बात करते हुए रो रही थी। ललिता बीते कुछ दिनों से मोबाइल पर किसी से लगातार बात करती थी और मानसिक तनाव में भी थी। TI तिवारी ने बताया कि साइबर सेल की मदद से मोबाइल की जांच की जाएगी। इसके बाद ही आत्महत्या के कारणों का पता चल सकेगा।

खबरें और भी हैं...