बिलासपुर पुलिस की बनें तीसरी आंख:ट्रैफिक रूल्स तोड़ने वालों की तस्वीर खींचकर करें वॉट्सऐप, पुलिस तुरंत लेगी एक्शन

बिलासपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने एक वॉट्सऐप नंबर भी जारी किया है। जिसमें आप शिकायत कर सकते हैं। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने एक वॉट्सऐप नंबर भी जारी किया है। जिसमें आप शिकायत कर सकते हैं।

बिलासपुर पुलिस ने ट्रैफिक रूल्स का पालन कराने के लिए नई पहल शुरू की है। इसे पुलिस की तीसरी आंख नाम दिया गया है। इस अभियान के तहत आम लोगों से पुलिस की मदद करने व रूल्स तोड़ने वालों की तस्वीर खींच कर पुलिस तक पहुंचाने की अपील की गई है। इन तस्वीरों के जरिए पुलिस नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। तस्वीर वॉट्सऐप करने के लिए मोबाइल नंबर 94791-93015 जारी किया गया है।

SP पारुल माथुर कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही शहर की यातायात व्यवस्था बनाने की दिशा में काम कर रहीं हैं। उन्होंने गोलबाजार व सदरबाजार रोड को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए इस मार्ग को वन-वे किया है। इसमें उन्होंने व्यापारियों से भी मदद ली और उनकी बैठकें भी ली थी।

फेसबुक लाइव में मिले सुझाव
बीते दिनों उन्होंने कोरोना संक्रमण व शहर की समस्याओं पर चर्चा करने के लिए फेसबुक लाइव भी किया था। इस दौरान शहर के लोगों ने उन्हें यातायात सहित विभिन्न शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई करने के लिए नंबर जारी करने की मांग की थी। इस सुझाव के आधार पर ही उन्होंने यातायात पुलिस की टीम को यातायात से जुड़ी किसी भी समस्या के त्वरित निदान के लिए सार्वजनिक तौर पर एक मोबाइल नंबर जारी करने के निर्देश दिए थे।

ट्रैफिक रूल्स तोड़ने वालों की तस्वीर लेकर करें शिकायत
SP पारूल माथुर व एडिशनल एसपी ट्रैफिक रोहित बघेल ने बताया कि यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए यह पहल शुरू की गई है। आमतौर पर ट्रैफिक रूल्स तोड़ने वाले लोग पुलिस के पहुंचते तक गायब हो जाते हैं। ऐसे में आम नागरिकों की सहभागिता के लिए यह प्रयास किया जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस की तीसरी आंख"थीम को लेकर यातायात से जुड़ी किसी भी समस्या की रिपोर्ट करने के लिए अब आम जनता अपने मोबाइल से तस्वीर खींच कर दिए गए नंबर पर वॉट्सऐप करना होगा।
रूल्स तोड़ने वालों की करें शिकायत
नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों से यातायात बाधित होती है। ऐसे ही यातायात नियमों का उल्लंघन करने से आम लोग परेशान होते हैं। इस तरह से किसी भी जगह पर ट्रैफिक जाम की स्थिति हो और कम उम्र के बच्चे वाहन चलाते, रेस ड्राइविंग, खतरनाक ढंग से वाहन चलाने वालों की शिकायत की जा सकती है। इस तरह की शिकायतों पर संबंधित अधिकारी त्वरित कार्रवाई करेंगे।

खबरें और भी हैं...