• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • Drunk Habitual Miscreant Seen Getting Entangled With Patrolling Team, Patrolling Team Ran Away From The Spot, TI Said Will Take Action After Registering FIR

बदमाश से डरकर भागे पुलिसवाले, Video:पेट्रोलिंग टीम से उलझता दिखा नशे में धुत आदतन बदमाश, मौके से पेट्रोलिंग टीम भागी; TI बोले- FIR दर्ज होने पर करेंगे कार्रवाई

बिलासपुर3 महीने पहले

बिलासपुर के सकरी थाना क्षेत्र के नया बाजार में नशे में धुत्त एक बदमाश ने पुलिस के साथ मारपीट करने की कोशिश की। बदमाश पहले से चोटिल था और घटना के दौरान उसने शराब पी रखी थी। नशे में होने की वजह से पुलिसकर्मियों ने उससे उलझने की बजाय मौके से चले जाना ही समझा।

मारपीट की सूचना के बाद मौके पर पहुंची थी पुलिस
बिलासपुर में बना यह वीडियो सोशल मीडिया पर अब खूब वायरल हो रहा है, जिसमें नशे में चूर युवक पुलिसकर्मियों से उलझता दिख रहा है। उसने पुलिसकर्मियों से गाली-गलौज करने से भी परहेज नहीं किया। वीडियो की पड़ताल किए जाने पर पता चला कि घटना सकरी थाना क्षेत्र के नया बाजार की है, जहां युवती से छेड़छाड़ और उसके बाद मारपीट की खबर पर थाने की पेट्रोलिंग टीम से तीन पुलिसकर्मी पहुंचे थे, लेकिन मौके पर पुलिस के पहुंचने के बाद नशे में धुत्त विक्की पाण्डेय ने तीनों पुलिसकर्मियों के साथ क्या सुलूक किया यह वीडियो में साफ देखा जा सकता है।

आदतन अपराधी है विक्की

वीडियो में दिख रहा विक्की पाण्डेय अपने क्षेत्र का आदतन अपराधी है। विक्की के खिलाफ गंभीर मामलों के केस दर्ज हैं। यह उन अपराधियों में शामिल है जिनपर पुलिस हमेशा नज़र रखती है। ऐसे मुजरिमों को पुलिसिया भाषा में 'निगरानी बदमाश' भी कहते हैं। पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले विक्की के सिर पर चोट लगी थी। इसके साथ ही वह नशे में धुत भी था। ऐसे में पुलिस वालों ने उसपर सख्ती नहीं दिखाई।

TI ने कहा- FIR दर्ज होने के बाद करेंगे कार्रवाई

सकरी थाना प्रभारी प्रसाद सिन्हा ने कहा कि जिन लोगों की शिकायत पर पेट्रोलिंग टीम पहुंची थी। उन्होंने अभी तक आरोपी के खिलाफ FIR दर्ज नहीं कराई है। अगर वह सामने आते हैं तो हम कार्रवाई करेंगे। घटना के समय आरोपी नशे में था। इसके साथ ही उसे चोट भी लगी थी, ऐसे में अगर पुलिस उस पर सख्ती दिखाती तो उसे और चोट लग सकती थी। ऐसे में कोई अनहोनी न हो केवल इसलिए पेट्रोलिंग टीम ने मौके से लौट जाना ही बेहतर समझा।

नशेड़ियों से पुलिस भी करती है तौबा

दरअसल, पुलिस ऐसे नशेड़ियों को थाने में लाने से बचती है, क्योंकि अगर थाने के अंदर ये कोई आत्मघाती कदम उठाते हैं तो बाद में फिर पुलिस पर सवाल खड़े होते हैं, इसलिए पुलिस अधिकतर ऐसे मामलों में पीड़ित और शिकायतकर्ता के बीच आपसी सहमति और समझौते करने की कोशिश करती है।

खबरें और भी हैं...