संपत्ति हड़पने का आरोप:किम्स हॉस्पिटल मालिक के बड़े बेटे ने अपनी मां व छोटे भाई पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

किम्स हॉस्पिटल के मालिक के बड़े बेटे ने अपनी मां व छोटे भाई पर झूठा शपथपत्र देकर पिता की संपत्ति हड़पने का आरोप लगाया है। सिविल लाइन पुलिस ने इस मामले में दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है। शिकायतकर्ता वाय राजशेखर पिता स्व. वाय आर कृष्णा के अनुसार उनका किम्स अस्पताल के सामने मगरपारा रोड में मकान है। वे आर्थोपेडिक सर्जन हैं।

मगरपारा रोड स्थित किम्स हॉस्पिटल के उनके पिता संचालक थे। 7 अगस्त 2020 को उनका निधन हो गया। वाय राजेश्वर के अनुसार उनकी मां व छोटी बहन व छोटा भाई वारिसान के रूप में जीवित हैं। वाय आर कृष्णा के निधन के बाद वाय राजेश्वर राव व्यवसाय के संबंध मे भोपाल, झारखंड व बिहार के विभिन्न अस्पतालों में जाकर सेवाएं दे रहे थे। उनकी अनुपस्थिति में उनकी मां वाय कमला व छोटे भाई वाय रवि शेखर ने मिलकर पिता की पूरी संपत्ति को अवैध रूप से हड़प लिया है। उनके पिता के नाम पर मगरपारा में तीन प्लॉट है। डॉ. वाय राजशेखर राव के अनुसार उनके पिता ने किसी तरह का वसीयतनामा नहीं लिखा था।

इसका फायदा मां व छोटे भाई ने उठाया। उन्होंने मिलकर छलपूर्वक तथा कूटरचित दस्तावेजों के जरिए राजस्व अभिलेखों में अपना नाम चढ़वा लिया है। उन्होंने राजस्व न्यायालय में संपत्तियों के संबंध में नामांतरण आवेदन पेश किया था। इसमें झूठा शपथपत्र दिया गया है। बताया गया है कि उनकी मां व छोटे भाई के अलावा पिता के कोई औैर वारिसान नहीं है, जबकि वास्तविकता यह है कि बेटी पल्लवी व बेटा वाय राजेश्वर भी वारिसान हैं। नामांतरण में किम्स में कार्यरत देवेंद्र सिंह ठाकुर ने झूठा शपथ दिया है।

खबरें और भी हैं...