बिजली संकट:बिजली कटौती से उद्यमी परेशान, कहा कोरोना से प्रभावित उद्योगों को पटरी पर लाने की कर रहे कोशिश, लेकिन बिजली कटौती कोशिशों पर फेर रहा पानी

बिलासपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश लघु उद्योग के अध्यक्ष ने कहा  लगातार हो रही बिजली कटौती से उद्योग पर बुरा असर पड़ रहा है - Dainik Bhaskar
प्रदेश लघु उद्योग के अध्यक्ष ने कहा लगातार हो रही बिजली कटौती से उद्योग पर बुरा असर पड़ रहा है

बिलासपुर में कोरोना से प्रभावित उद्योग अब बिजली की मार झेल रहे हैं। औद्योगिक क्षेत्रों में विद्युत समस्या उद्यमियों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। जिसके कारण उद्योगों का संचालन मुश्किल हो गया है। उद्योगों में उत्पादन प्रभावित होने के साथ माल कर मशीनरी दोनों का नुकसान हो रहा हैं। इधर बिजली का दो तिहाई रेवेन्यू उद्योगों से आने के बाद भी विभाग की लचर व्यवस्था को लेकर उद्यमी अब खासे नाराज हैं।

दरअसल, बीते डेढ़ वर्षो से कोविड के कारण प्रभावित उद्योग फिर से पटरी पर आने की कवायद कर रहे हैं। अनलॉक के साथ पूरी क्षमता के साथ उद्योगों का संचालन फिर से शुरू किया गया है। लेकिन इसके बावजूद उद्यमियों की परेशानी कम नहीं हो रही है। कोरोना के बाद अब उद्योगों को बिजली की मार झेलनी पड़ रही है। औद्योगिक क्षेत्रों में बिजली की समस्या से उद्यमी परेशान है। बिजली की लचर व्यवस्था के कारण बार-बार उद्योगों का संचालन प्रभावित हो रहा है। उद्यमियों की माने तो कोरोना के बाद जब उद्यमी उद्योगों को फिर से पटरी पर लाने की कवायद कर रहे हैं, ऐसे में अब बिजली की समस्या उन्हें परेशान कर रही है। जिसके कारण उद्योगों का उत्पादन तो प्रभावित हो ही रहा है, उद्योगों को माल के साथ साथ उनकी मशीनरी भी अब खराब हो रही हैं।

ट्रिपिंग, लोड शेडिंग और मेंटेनेंस के नाम पर विभाग कर रहा मनमानी

प्रदेश लघु एवं सहायक उद्योग संघ के अध्यक्ष हरीश केडिया के अनुसार बिजली की छोटी-छोटी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। ट्रिपिंग, लोड शेडिंग और मेंटनेंस के नामपार विद्युत विभाग अपनी मनमानी कर रहा है। जिसका सीधा खामियाजा उद्योगों को उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा, बिजली विभाग को समस्या को लेकर कर्तव्य शिकायत भी की जा चुकी है बावजूद उनके समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।
बांस के पेड़ों की वजह से आ रही समस्या -विद्युत विभाग

इधर विद्युत विभाग में ईई के पद पर पदस्थ सुरेश जांगड़े की मानें तो, इंडस्ट्रीलियल एरिया सेक्टर ए और बी में मानसून में बांस के पेड़ों के कारण समस्या आ रही है। जिसे प्लान बनाकर दुरुस्त करने की कार्य योजना बनाई गई है। इसके साथ ही इंडस्ट्रियल एरिया को निर्बाध विद्युत आपूर्ति हो इसके लिए डबल सप्लाई अरेंजमेंट और एबी स्विच लगाने की दिशा में की काम किया जा रहा है।