पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फायदा नहीं:12 रेत घाटों से शासन को मिले महज 1.37 करोड़, लोग महंगे में खरीद रहे

बिलासपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिन रात चल रही खुदाई, 1 लाख 22 हजार 100 घनमीटर उत्खनन की पर्ची दी यानी 10 हजार 175 ट्रक, आंकड़ाें की मानें तो ठेकेदारों को महज 54.94 लाख मिले

सुनील शर्मा | नीलाम होने के बाद जिले के 12 रेत घाटों में 24 घंटे रेत का उत्खनन हो रहा है लेकिन शासन को इसके बदले महज 1 करोड़ 37 लाख रुपए की ही आय हुई है। वहीं आम आदमी पहले की तुलना में अधिक दाम में रेत खरीद रहा है। जो रेत उसे 1000 रुपए ट्रैक्टर में मिलता था, 1700 से 1800 रुपए में खरीदना पड़ रहा है। ऐसे में सवाल है कि रेत घाटों का ठेका किसके लिए हुआ। फायदा खनिज अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदारों और गाड़ी मालिकों को होता दिख रहा है। ठेका में परदे के पीछे कांग्रेस नेता भी शामिल हैं।रेत घाटों से शासन को आय हो, लोगों को भी कम रेट पर मिले इसलिए घाटों की नीलामी की गई। जिले में 19 घाट नीलाम हुए। इसमें से 12 घाट से उत्खनन के लिए रायल्टी पर्ची दी गई। 7 जनवरी 2020 को छतौना के लिए पहली पर्ची दी गई। वहीं आखिरी पर्ची 8 जनवरी 2021 को दी गई। प्रति घनमीटर शासन को 112.25 रुपए मिलता है। 1 लाख 22 हजार 100 घनमीटर उत्खनन की पर्ची दी गई। एक ट्रक में 12 घनमीटर रेत का परिवहन होता है, इस हिसाब से 10 हजार 175 ट्रक का ही उत्खनन ही होना बता रहे हैं। शासन को हुई आय की दृष्टि से देखें तो अब तक महज 1 करोड़ 37 लाख रुपए ही रायल्टी, ऑक्शन, डीएमएफ, टीसीएस आदि से खनिज विभाग को मिला है। रेत घाटों में रात में भी उत्खनन हो रहा है जबकि यह नियम के खिलाफ है। दैनिक भास्कर की स्टिंग में सरकंडा रेत घाटा का मुंशी कुंदन सिंह इस बात को कह चुका है कि रात में ही उत्खनन करते हैं।

घुटकू में 2075 ट्रक निकलना बता रहे, यहां रोज 100 ट्रक खोद रहे
जिले में सबसे ज्यादा रेत घुटकू घाट से निकाली जा रही है। यहां 24900 घनमीटर(2075 ट्रक) के लिए खनिज विभाग ने पर्ची दिया। लेकिन यहां जाकर देखा जा सकता है कि एक दिन में यहां लगभग 100 ट्रक से कम रेत नहीं निकाला जा रहा है। यहीं हालत छतौना, लक्षनपुर, रतखंडी और उदईबंद घाट का है। ये सभी बड़े घाट हैं। यहां सिंडीकेट काम कर रहा है।

ये घाट कागजों में बंद: खनिज विभाग के मुताबिक पहंदा व कोनचरा में पर्यावरण अनुमति खत्म, रहटाटोर, मनवा, कुकुर्दीकेरा, भिलौनी व सिलदहा घाट में पानी भरने की वजह से नीलामी के बाद से उत्खनन शुरू नहीं हुआ है।

"1 करोड़ 37 लाख रुपए रायल्टी, ऑक्शन आदि से आय हुई है। पर नियम विरुद्ध लोडिंग करने पर ठेकेदारों से 15 लाख 60 हजार वसूल किया गया। 350 वाहन अवैध परिवहन के ताे कई गाड़ियां अवैध उत्खनन के पकड़े गए। जुर्माना से जो रुपए मिले, वह भी तो आय है।"
-अनिल साहू, सहायक खनिज अधिकारी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser