पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

90 फीसदी काम पूरा:मातृ शिशु अस्पताल में एचडीयू कल से शुरू होगी, गंभीर बच्चों को मिलेगा बेहत इलाज

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1 से 12 वर्ष तक के गंभीर बच्चों को सरकारी दरों पर मिलेगा इलाज

100 बिस्तर मातृ शिशु अस्पताल में अब गंभीर बच्चों के इलाज के लिए हाई डिपेंडेंस यूनिट (एचडीयू) तैयार होने वाली है। सोमवार से यूनिट को शुरू करने का दावा अस्पताल प्रबंधन ने किया है। सिविल सर्जन डॉक्टर अनिल गुप्ता का कहना है कि 90 प्रतिशत काम पूरे हो चुके हैं। सोमवार से सघन चिकित्सा कक्ष को शुरू कर दिया जाएगा। यहां गंभीर बच्चों को बेहतर इलाज मिलेगा।

उन्होंने बताया कि एक वर्ष से लेकर 12 वर्ष तक के सभी गंभीर बच्चे जिन्हें इमरजेंसी इलाज की जरूरत होती है, कई बार सुविधा नहीं होने के कारण उन्हें निजी अस्पताल जाना पड़ता था। लेकिन अब इन बच्चों को मातृ शिशु अस्पताल में इलाज मिलेगा। इसके लिए 4 बेड की हाई डिपेंडेंस यूनिट लगभग तैयार हो चुकी है। गंभीर बच्चों को पहले इसी वार्ड में भर्ती कर उनका इलाज किया जाएगा। हालत में सुधार होने पर बच्चों को जरनल वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा।

8 और 9 फरवरी को होगी डॉक्टरों की ट्रेनिंग

अस्पताल की तीसरी मंजिल पर बन रहे सघन चिकित्सा कक्ष में भर्ती बच्चों का इलाज कैसे करना है इसके लिए डॉक्टरों की ट्रेनिंग होगी। पहले एक बार ट्रेनिंग हो चुकी है। दूसरी ट्रेनिंग 8 और 9 फरवरी को होने वाली है। ट्रेनिंग में डॉक्टरों को यूनिट से जुड़ी सभी बारीकियों की जानकारी दी जाएगी ताकि भर्ती होने वाले गंभीर बच्चों के इलाज में किसी तरह की परेशानी न हो।

राज्य टीकाकरण अधिकारी ने दिए थे निर्देश : बता दें कि पिछले दिनों राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर अमर सिंह ठाकुर ने अस्पताल के निरीक्षण के दौरान बच्चों के बेहतर इलाज के लिए यूनिट को सप्ताहभर के भीतर शुरू करने के निर्देश दिए थे। थोड़ी लेट ही सही लेकिन अब सोमवार से यूनिट को शुरू करने का दावा किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें