अमन सिंह और उनकी पत्नी की याचिका पर सुनवाई पूरी:हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला, आय से अधिक संपत्ति से जुड़ा है मामला; पूर्व CM के प्रमुख सचिव थे अमन

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाईकोर्ट ने पूर्व CM के प्रमुख सचिव अमन सिंह और उनकी पत्नी की याचिका पर सुनवाई पूरी कर ली है। - Dainik Bhaskar
हाईकोर्ट ने पूर्व CM के प्रमुख सचिव अमन सिंह और उनकी पत्नी की याचिका पर सुनवाई पूरी कर ली है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह के प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह और उनकी पत्नी यास्मीन सिंह की याचिका पर सोमवार को सुनवाई पूरी हो गई है। कोर्ट ने प्रकरण में फैसला सुरक्षित रख लिया है।अमन सिंह व यास्मीन की ओर से बहस के दौरान बताया गया कि याचिकाकर्ता के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला ही नहीं बनता। फिर भी राजनीतिक दबाव में आकर बिना किसी तथ्य व सबूत के प्रकरण दर्ज किया गया है।

उनकी तरफ से बहस पूरी होने के बाद ACB की ओर से सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट ने बहस शुरू किया। सभी पक्षों की तर्कों को सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला आदेश के लिए सुरक्षित रख लिया है। इसके पहले 6 सितंबर की सुनवाई में ACB द्वारा जवाब पेश किया गया था। जवाब में ACB ने अमन सिंह के उस आवेदन पर खंडन नहीं किया था जिस पर अमन सिंह ने कहा था कि प्रथमदृष्टया उन पर आय से अधिक संपत्ति का मामला बनता ही नहीं। सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने ACB को निर्देशित किया था कि 24 सितंबर की अगली सुनवाई तक अमन सिंह के आय - व्यय की गणना कर ब्यौरा और केस डायरी को प्रस्तुत करे।

कोर्ट ने दंडात्मक कार्रवाई पर लगाई थी रोक

दरअसल, रायपुर निवासी उचित शर्मा ने अमन सिंह और यास्मीन सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए ACB,EOW में शिकायत किया था। शिकायत के आधार पर ACB,EOW अपनी कार्रवाई शुरू की थी। इस कार्रवाई के खिलाफ अमन सिंह और यास्मीन सिंह ने हाईकोर्ट में अलग-अलग याचिकाएं प्रस्तुत की थी। प्रारंभिक सुनवाई में ही HC ने दोनों के खिलाफ नो कोर्सिव स्टेप यानी किसी भी प्रकार के दंडात्मक कार्रवाई पर रोक लगा दी थी।

खबरें और भी हैं...