हाईकोर्ट में याचिका पर सुनवाई:व्याख्याता के स्थानांतरण पर हाईकोर्ट ने शासन से मांगा जवाब

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उच्चतर माध्यमिक शाला में पदस्थ व्याख्याता के स्थानांतरण के एक मामले पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने शासन से जवाब मांगा है। कोरिया जिले के भरतपुर विकास खंड में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला में व्याख्याता का स्थनांतरण हाईस्कूल पुनिया विकासखंड मैनपाट सरगुजा कर दिया गया था।

मामले की सुनवाई न्यायाधीश पी. सैम कोशी की एकलपीठ में हुई। सचिदानंद साहू ने हाईकोर्ट में याचिका दायरकर बताया है कि शासकीय विद्यालय भरतपुर में वह पदस्थ थे तब वर्ष 2015 में उनका स्थान्तरण भरतपुर ब्लाक से शासकीय उमा शाला केरता, बलरामपुर कर दिया गया। फिर 13 फरवरी 2020 को संशोधन कर उनकी पदस्थापना शासकीय उमा शाला बरसादी कोरिया कर दिया गया था। याचिकाकर्ता हिंदी विषय में व्याख्याता हैं। वर्तमान स्कूल में अच्छे से अध्ययापन का कार्य करा रहे थे, लेकिन स्थानीय विधायक ने मंत्री के सामने यह शिकायत दर्ज करा दी कि याचिकाकर्ता वर्तमान कांग्रेस सरकार के विरुद्ध भाजपा पार्टी के हित में कार्य करते हैं। जिसके कारण स्कूल शिक्षा विभाग के अवर सचिव ने 15 सितंबर 2021 को याचिकाकर्ता का जिले से बाहर सरगुजा में तबादला कर दिया गया। इस आदेश से परेशान होकर याचिका दायर की गई। मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट ने अवर सचिव द्वारा जारी स्थानान्तरण आदेश पर रोक लगा दी है।

खबरें और भी हैं...