मुक्ति धाम और कब्रिस्तान की जमीन पर विवाद:नाले पर अहाता निर्माण को लेकर दो समुदाय आमने-सामने, अवैध कब्जे का आरोप; प्रशासन कल कराएगा सीमांकन

तखतपुर/बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंदु समुदाय के लोगों ने नाले की जमीन पर अतिक्रमण करने लगाए आरोप - Dainik Bhaskar
हिंदु समुदाय के लोगों ने नाले की जमीन पर अतिक्रमण करने लगाए आरोप

बिलासपुर में मुक्ति धाम और कब्रिस्तान की जमीन को लेकर विवाद शुरू हो गया है। इसके चलते दो समुदाय के बीच तनाव की स्थिति बन गई है। हिंदू समुदाय के लोगों का आरोप है कि मुक्तिधाम की जमीन पर अवैध कब्जा कर नाली निर्माण किया जा रहा है। इसे लेकर विरोध करते हुए उन्होंने SDM को ज्ञापन सौंपा है। SDM ने फिलहाल नाली निर्माण पर रोक लगा दी है। साथ ही दोनों पक्षों की मौजूदगी में गुरुवार को जमीन का सीमांकन कराने का आदेश दिया है। मामला तखतपुर का है।

SDM को ज्ञापन सौंपने पहुंचे हिंदू समुदाय के लोगों ने बताया कि नगर पालिका में मुक्ति धाम और कब्रिस्तान आसपास ही है। इस जमीन के बीच नाला है। मुक्ति धाम में नगर पालिका की ओर से आहाता निर्माण कराया जा रहा है। इसी तरह कब्रितान में भी आहाता निर्माण का कार्य शुरू हो रहा है। इसके लिए कॉलम खड़ी करने के लिए पाइल खोदे जा रहे है। आरोप है कि मुक्ति धाम की जमीन पर अतिक्रमण किया जा रहा है। हिन्दू समुदाय ने इस पर आपत्ति जताई है।

तहसील कार्यालय पहुंचकर हिंदु समुदाय के लोगों ने की शिकायत
तहसील कार्यालय पहुंचकर हिंदु समुदाय के लोगों ने की शिकायत

नाले में कब्जा कर अहाता बनाने का आरोप
हिंदू समुदाय के लोगों ने आरोप लगाया कि जब मुक्ति धाम के लिए अहाता का निर्माण हुआ, तब नाले के पानी से कटावा न हो, इसके लिए जमीन छोड़ी गई थी। लेकिन, कब्रिस्तान का अहाता बनाने के लिए नाले की जमीन पर कब्जा किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि नाले की जमीन पर अहाता निर्माण करने के बाद दोनों पक्षों में विवाद की स्थिति निर्मित हो गई है। यही वजह है कि हिंदू समुदाय ने प्रशासन से हस्तक्षेप करने की मांग की है। इसके लिए ज्ञापन सौंपा गया है। इस आपत्ति पर SDM ने निर्माण कार्य रोक दिया है।

दूसरे पक्ष ने कहा- कब्रिस्तान की जमीन पर बन रहा अहाता
वहीं, मुस्लिम समुदाय का कहना है कि मुक्ति धाम में जब अहाता का निर्माण हुआ, तब किसी ने विरोध नहीं किया। अब कब्रिस्तान की जमीन पर अहाता बन रहा है, तो विरोध किया जा रहा है। अहाता निर्माण के लिए जमीन में अतिक्रमण नहीं किया जा रहा है। जानबूझकर लोग अहाता निर्माण का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने अफसरों से जमीन का सीमांकन कराने और अहाता निर्माण शीघ्र पूरा कराने की बात कही है।

SDM ने दी समझाइश-बोले विवाद न करें
SDM महेश शर्मा ने हिंदु समुदाय के साथ ही मुस्लिम समुदाय के लोगों को भी समझाइश दी है। साथ ही कहा है कि जमीन के विवाद को बढ़ावा न दें। उन्होंने राजस्व अफसरों की मौजूदगी में विवाद का निपटारा करने का भरोसा दिलाया है। तब तक दोनों पक्षों को शांति बनाए रखने के लिए कहा है।

खबरें और भी हैं...