पुलिस ने युवक के गले से मौत का फंदा हटाया:पत्नी मायके से नहीं आई तो फांसी लगा रहा था युवक, पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बचाई जान

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

समय से पहुंचकर पुलिस ने एक युवक की जान बचा ली। युवक कमरा बंद कर फांसी लगाने के लिए गले में फंदा डाल चुका था। पुलिस ने दरवाजा खोलकर उसे बचा लिया। मामला कोटा थाना क्षेत्र का है। बुधवार दोपहर 3 बजे डॉयल 112 को सूचना मिली कि एक युवक कमरे में फांसी लगाने की तैयारी कर रहा है।

पुलिस मौके पर पहुंची। युवक फंदा गले में डालने की कोशिश कर रहा था। पुलिस ने उसे बचा लिया। घटना ग्राम खुरदूर की है। थाना कोटा पुलिस कर्मी डायल 112 के श्यामलाल सोनवानी, हेड कांस्टेबल कमलेश सिंह, ड्राइवर मोनू जायसवाल ने किसी तरह उस युवक के कमरे का दरवाजा खोला और उसे फांसी लगाने से रोक लिया। दरवाजा अंदर से बंद नहीं था। कुछ सामान रखकर उसे बंद किया था। बताया जा रहा है कि युवक का अपनी पत्नी से विवाद हुआ था।

इसके कारण वह मायके चली गई थी। नहीं लौटी तो उसने खुदकुशी करने की योजना बनाई। उसकी मां ने युवक के कमरे का दरवाजा बंद देखा तो आवाज लगाई। भीतर से जवाब नहीं मिला तो पड़ोसी के मोबाइल से पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी। इस पर पुलिस पहुंची। युवक अपनी पत्नी को लेने ससुराल कई बार जा चुका था पर वह आने के लिए तैयार नहीं हुई। इससे वह दुखी था। पुलिस ने य उसे भरोसा दिलाया के दो दिनों के भीतर पुलिस उसकी पत्नी को लेकर आएगी तब वह शांत हुआ।

खबरें और भी हैं...