रेल यात्री पानी बोतल के लिए तरस रहे:आईआरसीटीसी को नहीं मिल रहे सप्लायर, रेल नीर की सप्लाई ठप

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिरगिट्‌टी में प्लांट के बाहर डंप पड़ा है रेलनीर। - Dainik Bhaskar
सिरगिट्‌टी में प्लांट के बाहर डंप पड़ा है रेलनीर।

सिरगिट्‌टी के रेल नीर प्लांट में 4 लाख 42 हजार पानी बोतल डंप पड़ी है। स्टेशनों में रेल यात्री पानी बोतल के लिए तरस रहे हैं। रेलवे अफसर इस दिशा में कोई पहल नहीं कर रहे हैं। दूसरी तरफ आईआरसीटीसी ने रेल नीर प्लांट को एक ही शिफ्ट में चलाना शुरू कर दिया है ताकि उनके यहां डंप न बढ़े। सप्लाई के लिए तीन बार टेंडर किया गया लेकिन किसी ने सप्लाई के लिए टेंडर ही नहीं डाला।

लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी रेल नीर पानी बोतल की सप्लाई स्टेशनों में सुचारू नहीं हो पाई है। इसके पीछे की बड़ी वजह यह है कि ट्रेन चंद स्टेशनों में ही रुक रही है इसके लिए कोई भी सप्लायर तैयार नहीं हो रहा है। स्टेशनों में रेल नीर पानी बोतल के अलावा दूसरा कोई ब्रांड बेचने की अनुमति नहीं है। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। बिलासपुर, रायपुर जैसे स्टेशनों में रेल नीर पानी बोतल मिल रहा है लेकिन पेंड्रारोड, अनूपपुर जैसे स्टेशनों में यात्रियों को पानी बोतल मिल ही नहीं रहा है। रेलवे स्टेशन तक पानी बोतल कैरेट पहुंचाने की जवाबदारी आईआरसीटीसी की है लेकिन सप्लायर नहीं होने से पानी बोतल नहीं पहुंचा पा रहे हैं।

एक शिफ्ट में चल रहा प्लांट
आईआरसीटीसी का रेल नीर प्लांट पिछले कुछ महीनों से एक ही शिफ्ट में चल रहा है। लेकिन धीरे-धीरे हालत खराब होती जा रही है। पानी बोतल का डंप बढ़ता जा रहा है। पहले एक शिफ्ट में प्लांट चलने के बाद भी लगभग सभी 40 कर्मचारियों को काम पर बुलाया जाता था और उनका भुगतान भी पूरा किया जा रहा था लेकिन इस महीने से यानी 1 सितंबर से आधे-आधे कर्मचारियों को ही काम पर बुलाया जा रहा है। कर्मचारियों को दो भागों में बांट दिया गया है। पहले 20 लोग 15 दिन ड्यूटी किए अब बाकी के 20 लोग ड्यूटी पर आ रहे हैं। उन्हें वेतन भी 15 दिन का ही मिलेगा।

स्वीकृत ब्रांड का पानी बेच सकते हैं
आईआरसीटीसी का सप्लाई सिस्टम पूरी तरह से फेल हो चुका है। जब तक व्यवस्था नहीं सुधरती है और रेल नीर पानी बोतल पर्याप्त नहीं मिलता है तब तक केटरिंग संचालक विभाग के स्वीकृत ब्रांड के पानी बोतल बेच सकते हैं। इस संबंध में हमने रेलवे बोर्ड और आईआरसीटीसी के मुख्यालय में पत्र भी भेजा है।
-पुलकित सिंघल, सीनियर डीसीएम

खबरें और भी हैं...