कर्मचारी संघ का हल्ला बोल:न्यायिक अधिकारी ने ड्राइवर को दी गाली, नाराज संघ ने अधिकारी को ट्रांसफर करने की उठाई मांग, ऐसा नहीं करने पर दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अपनी मांगों को लेकर हाईकोर्ट परिसर पहुंचे कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
अपनी मांगों को लेकर हाईकोर्ट परिसर पहुंचे कर्मचारी।

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट कर्मचारी संघ के सैकड़ों सदस्य शनिवार को हाईकोर्ट परिसर में लामबंद हुए। कर्मचारियों का आरोप लगाया कि हाईकोर्ट के एक न्यायिक अधिकारी ने उनके एक साथी के साथ गाली-गलौज की है। संघ ने न्यायिक अधिकारी को ट्रांसफर करने की मांग उठाई है। ऐसा न करने पर उन्होंने उग्र आंदोलन करने की भी चेतावनी दी है।

संघ की आम सभा में बड़ी संख्या में महिला सदस्यों ने भी हिस्सा लिया था।
संघ की आम सभा में बड़ी संख्या में महिला सदस्यों ने भी हिस्सा लिया था।

कुछ दिनों पहले न्यायिक अधिकारी ने संघ के सदस्य को दी थी गाली

दरअसल, कुछ दिनों पहले एक न्यायिक अधिकारी ने एक ड्राइवर के साथ कुछ विवाद होने पर गाली-गलौज कर दी थी। ड्राइवर कर्मचारी संघ का सदस्य है और अधिकारियों को अदालत लाता और ले जाता है। मामले में संघ ने आला अधिकारियों से कई बार शिकायत भी की, लेकिन सुनवाई न होने पर आखिरकार आक्रोशित संघ ने शनिवार को आमसभा आयोजित की। इसके अलावा छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट कर्मचारी संघ ने राज्य शासन द्वारा स्वीकृत सहायक श्रेणी के पदों की वापसी, दो-तीन वर्षों से रुके प्रमोशन और बात-बात पर कर्मचारियों की छोटी-छोटी गलतियों पर भी शोकॉज नोटिस जारी करने पर भी रोक लगाने की मांग की। सभा में सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा न्यायिक अधिकारियों द्वारा छोटे कर्मचारियों के साथ अभद्र व्यवहार के खिलाफ कार्रवाई की मांग का रहा।

चरणबद्ध तरीके से आंदोलन की चेतावनी दी है

छत्तीसगढ़ कर्मचारी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमोद पाठक ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उनकी मांगों को नही माना गया तो 11 अगस्त से शांतिपूर्ण आंदोलन किया जाएगा। आंदोलन के पहले चरण 11 अगस्त को काली पट्टी लगाकर सभी कर्मचारी विरोध दर्ज कराएंगे, 12 अगस्त को भूख हड़ताल करेंगे और जब तक मांगे पूरी नही हो जाती तब तक घर नहीं जाएंगे।