दशहरा आज:देर से मिली अनुमति, इसलिए बड़े आयोजन नहीं होंगे, घर-घर जलाए जाएंगे छाेटे रावण

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ऑटो में रावण ही रावण। - Dainik Bhaskar
ऑटो में रावण ही रावण।
  • साल में एक बार खुलने वाला श्री राम सीता मंदिर आज तीन घंटे के लिए खुलेगा

नवरात्रि की महानवमी पर सुख समृद्धि की कामना करते हुए कई जगहों पर कन्या पूजन हुआ। मंदिरों में सुबह से दुर्गा सप्तशती व रामचरित मानस का पाठ हुआ। इसके बाद हवन में पूर्णाहुति दी गई। शहर में स्थित मां दुर्गा के मंदिरों व प्रतिमाओं के पंडालों में भंडारे का आयोजन हुआ।

कई परिवारों ने अपनी कुलदेवी का पूजन किया। इधर, नौ दिन तक चले नवरात्रि का समापन होने के बाद शुक्रवार को दशमी और दशहरा मनाया जाएगा। शहर में दशहरा मनाने समितियों द्वारा दो महीने पहले प्रशासन से अनुमति मांगी गई थी, पर दशहरा के दो दिन पहले अनुमति मिली। अब ऐसे में समितियों द्वारा बड़ा रावण तैयार नहीं कराया जा सका है। शहर में जहां भी बड़े रावण जलाए जाते थे, जहां शहर के लोग पहुंचते थे, वहां बड़े आयोजन नहीं हो रहे हैं। परंपरा का निर्वहन करने समितियों द्वारा छोटे रावण का दहन किया जाएग। कुछ स्थानों पर आतिशबाजी और आने वाले लोगों की थर्मल चेकिंग होगी। सेनेटाइज किया जाएगा और मास्क वितरित किया जाएगा।

संघ को पथ संचलन की अनुमति नहीं, दशहरा आज मनाएंगे
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को दशहरा की पूर्व संध्या शहर की सड़कों पर पथ संचलन निकालने की अनुमति नहीं दी गई। चार दिन पहले छत्तीसगढ़ स्कूल मैदान से धर्म संसद की रैली के िलए अनुमति की मांग करते वक्त संघ ने एसडीएम से पथ संचलन की अनुमति के लिए आवेदन दिया। आरएसएस के सह विभाग संचालक डाॅ.विनोद तिवारी ने बताया कि एसडीएम ने कहा कि धर्म संसद के कार्यक्रम के बाद पथ संचलन पर निर्णय लिया जाएगा, गुरुवार को जिस वक्त सायं 4 बजे पथ संचलन शुरू होना था, बताया कि अनुमति नहीं दी जाएगी। शुक्रवार को सुबह 7 बजे छत्तीसगढ़ स्कूल मैदान में विजयादशमी उत्सव के आयोजन की अनुमति दी जा रही है। दोनों कार्यक्रम अब सुबह ही होंगे।

ऑटो में रावण ही रावण
150 से लेकर 5 हजार रुपए तक बिके रावण।

दर्पण विसर्जन व सिंदूर दान आजद
शमी को माता की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाएगी। माता के पास रखे दर्पण को बड़े थाल में रखकर उनके पैर को देखकर दर्पण विसर्जन किया जाएगा। सुहागिन महिलाएं सिंदूर दान करेंगी और आपस में मिठाइयां बांटेंगी।

जानिए कहां, कितने बजे रावण दहन
1.
रावण दहन दशहरा उत्सव समिति, हनुमान मंदिर चौक पुराना बस स्टैंड, 15 फीट, 47वां वर्ष, शाम 7 बजे रावण के पुतले का दहन होगा।
2. दशहरा उत्सव समिति शनिचरी बाजार, लाल बहादुर शास्त्री स्कूल मैदान, 15 फीट, 42वां वर्ष, शाम 6 बजे।
3. मानस मंच, दीनदयाल मंगला नगर, दुर्गा पंडाल के पास, 20 फीट, 30वां वर्ष, शाम 8 बजे, शाम 5 बजे रामलीला का आयोजन होगा।
4. मिट्टी टीला कुदुदंड में मोहल्ले वासी आपस में मिलकर दशहरा उत्सव मानते हैं। 45 फीट, 11वां वर्ष, शाम 7.45 बजे।
5. विजयादशमी उत्सव समिति तिलनगर, पं. देवकीनंदन स्कूल ग्राउंड, 18 फीट, 12वां वर्ष, शाम 6 बजे, समिति के लोग जलाएंगे, एक घंटे तक आतिशबाजी चलेगी। देखने आने वाले लोगों का थर्मल चेकिंग कर मास्क दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...