पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जागरुकता की कमी :मास्क पहनना तो सीखे लेकिन हेलमेट भूले, हर साल 200 मौतें सिर पर चोट से

बिलासपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दोनों के बिना मौत का खतरा, जागरुकता एक जैसी नहीं, 90 फीसदी वाहन चालकों के चेहरे पर मास्क, हेलमेट सिर्फ 10-20 फीसदी के सिरों पर
Advertisement
Advertisement

चंद्रकुमार दुबे | कोरोना के डर से लोगों ने मास्क तो पहनना तो सीख लिया है पर हेलमेट लगाना भूल गए हैं। पिछले दो माह के भीतर ऐसे 46 हादसे हुए जिनमें दुपहिया वाहन चालकों के सिर पर गंभीर चोट आने की वजह से 25 की जान चली गई है। यदि इन्होंने मास्क की तरह हेलमेट पहनने में भी ईमानदारी दिखाई होती तो उनकी जान बच सकती थी। लोगों में कोरोना के चलते जान जाने की फिक्र तो है पर हादसे की वजह से मौत होने की जरा भी चिंता नहीं है। 
लॉकडाउन में ढील मिलते ही दुपहिया वाहन चालक पहले से अधिक लापरवाह हो गए हैं। कोरोना से मौत का डर उन्हें जरूर सता रहा है पर हादसे से जान जाने की जरा भी परवाह नहीं है। सड़कों पर 10-20 
फीसदी बाइक चालक की हेलमेट में नजर आ रहे हैं जबकि मास्क का उपयोग करीब 95 फीसदी लोग कर रहे हैं। 
हेलमेट के नाम पर 1.41 करोड़ चालान
हेलमेट के नाम पर ट्रैफिक पुलिस ने 3 साल 6 माह के भीतर 47149 लोगों से 1 करोड़ 41 लाख 23 हजार रुपए वसूल किए। यह कार्रवाई इसलिए की गई ताकि लोगों में हेलमेट के प्रति जागरूकता आए पर ऐसा नहीं हुआ। जनवरी 2019 से अब तक 1006 सड़क हादसे हुए और इनमें 290 लोगों की जान चली गई। मरने वालों में 159 बाइक सवार थे और किसी ने हेलमेट नहीं पहना था। लगातार हो रहे हादसों के बावजूद लोग सबक लेने के लिए तैयार नहीं हैं।

कार्रवाई कम होती गई और बढ़ती गई लापरवाही
बिना हेलमेट लगाए, तीन सवारी बिठाकर बाइकर्स अभी भी सड़कों पर फर्राटे भर रहे हैं। पुलिस ने 2016 में हेलमेट पर सख्ती दिखाई थी। सबसे अधिक 30324 लोगों को चालान किया गया था। इसके बाद से ही कार्रवाई मंद होने लगी। 2017 में 10009 व 2018 में 5738 लोगों का ही चालान काटा गया। 2020 में 6 माह के भीतर तो केवल नाम के ही 246 चालान हुए। कारण बिना हेलमेट वालों के हौंसले बुलंद हो गए। अब तक बिना हेलमेट के ही चल रहे हैं।

अब तक कितनी कार्रवाई 
वर्ष - कार्रवाई 
2016 - 30324
2017 -10009
2018- 5738
2019 - 832
2020 - 246
जागरूकता से 95 फीसदी लोगों ने पहनना सीख लिया
पुलिस ने कोरोना से बचाने और लोगों में जागरूकता लाने के लिए पूरे जिले भर में एक साथ बिना मास्क वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की। एक माह के भीतर 10 हजार चालान काटे गए। इसके चलते सड़क पर चलने वाले 95 फीसदी लोगों ने मास्क पहनना सीख लिया। बिना हेलमेट के लोगों की बड़ी संख्या में जान जा रही है फिर भी लोगों में हेलमेट के प्रति जागरूकता में कमी है।
दोनों के बिना ही जान का खतरा, उपयोग करें: एसपी
एसपी प्रशांत अग्रवाल के अनुसार लोगों का समझना चाहिए मास्क के साथ-साथ हेलमेट भी उनके जीवन के लिए ही है। मास्क के बिना यदि बीमारी से जान जाने का खतरा समझते हैं तो हेलमेट के उपयोग नहीं करने से भी हादसे में मौत होती है। लोगों को इसके लिए पुलिस कार्रवाई की प्रतीक्षा नहीं करना चाहिए। आने वाले दिनों में जल्द ही हेलमेट के लिए एक अभियान शुरू किया जाएगा।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement