ठगी का मामला:फोन पर ऑनलाइन पैसा कमाने का झांसा लोको पॉयलट से 8.73 लाख रुपए की ठगी

बिलासपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मोबाइल धारक के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज किया

ऑनलाइन पैसा कमाने का लालच देकर लोको पायलट को फोन करने वाले ने उनके वाट्सअप पर लिंक भेजा और एप्लीकेशन डाउनलोड कराकर 8 लाख 73 हजार 513 रुपए की ठगी कर ली। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मोबाइल धारक के खिलाफ धोखाधड़ी का जुर्म दर्ज कर लिया है। मामला तारबाहर थाना क्षेत्र का है। लिंक रोड सुमंगल अपार्टमेंट निवासी संजय कुमार श्रीवास्तव पिता स्व. विक्रमाजीत 54 वर्ष रेलवे में लोको पॉयलट हैं।

25 मई को उनके व्हाट्सअप एकाउंट पर एक अनजान मोबाइल नंबर से मैसेज आया। इसमें उन्हें ऑनलाइन पैसा कमाई के लिए एक लिंक भेजा गया था। लोको पॉयलट ने रुचि दिखाते हुए उस लिंक पर क्लिक किया तो उन्हें टीके-9 व वैल्थ साॅफ्टवेयर एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए कहा गया। उन्होंने एप्लीकेशन में आईडी बनाया। एप्लीकेशन से एक हजार रुपए का रिचार्ज किया तथा स्क्रीनशॉट लेकर टीके-9 नंबर पर वाट्सअप किया। इसमें उन्हें हर रोज प्रॉफिट देने की बात कही गई थी। पहली बार 350 रुपए प्रॉफिट देने के बाद टीके-9 एप्लीकेशन में 9000 रुपए ट्रांसफर करने के लिए कहा गया।

एक हजार रुपए डेली प्रॉफिट देने की जानकारी दी गई थी। उन्होंने 9 हजार रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर किया तो उन्हें नया वाट्सअप नंबर दिया गया। उन्होंने उस नंबर पर चैट कर जानकारी ली। टीके-9 एप्लीकेशन में उन्हें 5 जून को 388 रुपए प्रॉफिट दिया गया। इसके बाद उनसे कहा कि जो डेली प्रॉफिट होगा उस पर 40 प्रतिशत कमीशन टीके-9 एप्लीकेशन के माध्यम से देना होगा। यह भी कहा गया कि एकाउंट में ट्रेडिंग के समय 10 हजार रुपए मेंटेन करना पड़ेगा। यदि रकम कम हुआ तो पूरा पैसा डूब जाएगा। 7 जून के बाद से ऐसा चलता रहा फिर उनसे अधिक प्रॉफिट के लिए टीके-9 एप्लीकेशन में मेंटेन करने के लिए कहा। यह भी कहा कि अपने नीचे नेटवर्क बनाने पर उन्हें अलग से प्रॉफिट मिलेगा। पॉयलट लालच में आ गए और कुछ लोगों को इसमें जोड़ा। उनके कहने पर उन लोगों ने भी एप्लीकेशन डाउनलोड किया। टीके-9 एप्लीकेशन संचालक व आरोपी ने सभी से धोखाधड़ी की।

खबरें और भी हैं...