5 लाख रुपए की लॉटरी के नाम पर ठगी:ठग बोले-पैसे के साथ आकर्षक बाइक भी मिलेगा, युवक ने उधारी लेकर दिए डेढ़ लाख; अब थाने के चक्कर लगा रहा

बिलासपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लालच में आकर ठग के झांसे में आ गया संतोष बंजारे। - Dainik Bhaskar
लालच में आकर ठग के झांसे में आ गया संतोष बंजारे।

बिलासपुर में लॉटरी लगाने का लालच देकर एक युवक से डेढ़ लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। बैठे बिठाए पांच लाख रुपए पाने के प्रलोभन में आकर मजदूर ने उधारी लेकर ठगों के खातों में रकम जमा करता रहा। फिर भी इनाम नहीं मिलने पर उसे फ्रॉड होने का पता चला। अब वह रकम लौटाने की मांग को लेकर पुलिस का चक्कर काट रहा है। मामला सिरगिट्‌टी थाना क्षेत्र का है।

पुलिस के अनुसार कोरमी में रहने वाले संतोष बंजारे (42) रोजी-मजदूरी करता है। 2 दिसंबर को उसके मोबाइल पर अनजान नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि उसके मोबाइल नंबर को कंपनी ने लकी ड्रा में शामिल किया है। लिहाजा, वह 5 लाख रुपए और पल्सर बाइक इनाम जीत गया है। यह सुनकर संतोष झांसे में आ गया। बिना कोई जानकारी लिए उसने इनाम की राशि व बाइक पाने का तरीका पूछा। बत ठग ने प्रोसेस शुल्क के रूप में खाते में 1250 रुपए जमा करने कहा।

ठग के बताए अनुसार संतोष ने उसके खाते में रकम भी जमा कर दिया। इसके बाद उसे अलग-अलग बहाने से रकम जमा करने की बात कही गई। उसने अपने परिचितों से उधार में रकम लेकर अलग-अलग किश्तों में करीब डेढ़ लाख रुपए जमा करा दिए। इसके बाद भी ठग उससे और रुपए जमा कराने मांग करते रहे। तब संतोष को ठगी का अहसास हुआ। उसने इस मामले की शिकायत सिरगिट्‌टी थाने में की है। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है।

कर्जदार भी करने लगे हैं परेशान
संतोष ने पुलिस को बताया कि वह रोजी मजदूरी कर जीवन यापन करता है। इनाम के लालच में उसने बिना किसी को कुछ बताए बताए खाते रकम जमा कर दी। इसके लिए वह अपने परिचितों से उधार भी लिया है। अब ठगी का मामला सामने आने के बाद परिचित उसे रकम लौटाने के लिए दबाव डाल रहे हैं। उसने ठगों से रुपए वापस दिलाने की मांग की है।

यहां करें शिकायत
इस तरह से ऑनलाइन ठगी से बचने के लिए जिले के हर थाने में साइबर हेल्प डेस्क बनाया गया है। किसी भी तरह की ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले की जानकारी तत्काल देने पर साइबर हेल्प डेस्क के जरिए रकम वापसी की प्रक्रिया शुरू की जाती है। साइबर सेल की मदद से कइ लोगों का बैंक खाता होल्ड कर रुपए वापसी की कार्रवाई की गई है। साइबर सेल की टीम ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए अभियान भी चला रही है। फिर भी लोग लालच में आकर ठगों के झांसे में आ जाते हैं।

ऑनलाइन फ्रॉड से बचने रहे सावधान
ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए हमेशा सावधानी बरतने की आवश्यकता है। अनजान नंबर से आने वाले फोन को अपनी पर्सनल जानकारी जैसे बैंक खाता नंबर, आधार कार्ड वगैरह की जानकारी नहीं देना चाहिए। क्योंकि, कोई भी बैंक अधिकारी या कर्मचारी मोबाइल या फोन से कॉल कर किसी भी खातेदार की जानकारी नहीं मांग सकता। इस तरह के कॉल ऑनलाइन ठग ही करते हैं। ऑनलाइन ऑफर जैसे फोन कॉल से भी हमेशा बचने का प्रयास करना चाहिए। ऐसे लोागों को कोई भी जानकारी देने पर आप ठगी के शिकार हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं...